युवक के सिर में गोली लगने से मौत

 युवक के सिर में गोली लगने से मौत


- गांव से बाहर नलकूप में अकेले था युवक

खागा/फतेहपुर। किशनपुर थाना क्षेत्र के रग्घूपुर मजरे गढ़ा गांव में सतीश तिवारी पुत्र उमेश चंद्र तिवारी का शव बुधवार दोपहर गांव के बाहर नलकूप में मिला। सूचना पर पुलिस ने घटनास्थल से मोबाइल व अवैध तमंचा बरामद किया है।

क्षेत्र के रग्घूपुर मजरे गढ़ा गांव निवासी उमेश चंद्र तिवारी का गांव से करीब एक किलोमीटर दूर फजलपुर के पास निजी नलकूप है। जहां पर उमेश चंद्र अपने पत्नी के साथ रहते हैं। वही भैंस गाय पालकर दूध का काम करते हैं। जिनके लड़के व बहु गांव में रहते हैं। बुधवार सुबह उमेश चंद्र तिवारी अपने पत्नी के साथ अपने नलकूप में थे। तभी उनका छोटा बेटा सतीश तिवारी (20) बुधवार सुबह करीब 10 बजे नलकूप आया और अपने माता-पिता को घर खाना खाने भेजा। फिर तेज आंधी चलने लगी। पिता उमेश चंद्र खाना खाकर करीब 11.45 दोपहर नलकूप पहुंचे तो सतीश तिवारी नलकूप के अंदर लेटा था। पिता ने देखा तो सतीश के सिर में गोली लगी थी जो दाएं तरफ से बाएं तरफ निकल गई थी। तमंचा बगल में पड़ा था। मोबाइल कुछ दूर पर पड़ा था। जिसके बाद पिता ने तत्काल पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मोबाइल व अवैध तमंचा बरामद कर फॉरेंसिक टीम को मौके पर बुलाया। वही घटना की सूचना पर क्षेत्राधिकारी संजय सिंह ने भी मौके का निरीक्षण किया। जिसके बाद फॉरेंसिक टीम ने घटनास्थल के साक्ष्य एकत्रित कर जांच के लिए भेज दिए हैं।

इनसेट-

परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

खागा/फतेहपुर। मृतक सतीश का शव खून से लथपथ मिलने के बाद परिजनों ने अज्ञात लोगों द्वारा नलकूप में पकड़ कर गोली मारने की आशंका जताई है। मृतक के बड़े भाई दुर्गेश ने फॉरेंसिक टीम पहुंचने के पहले ही तमंचा मोबाइल को उठा लिया था जिससे पुलिस ने फॉरेंसिक जांच में समस्या बताई है। मृतक के पिता उमेश चंद्र ने बताया कि वर्ष 2007 में एक हत्या के मामले में झूठा आरोपी बनाया गया था। अभी एक साल पहले जेल से छूट कर आए हैं। उनकी किसी से दुश्मनी या विवाद नहीं है। थानाध्यक्ष किशनपुर संजय तिवारी ने बताया कि प्रथम दृष्टया आशनाई को लेकर युवक ने आत्महत्या की है। फिर भी परिजनों की आशंका के अनुसार फॉरेंसिक टीम द्वारा साक्ष्य एकत्रित कर जांच कराई जा रही है।

-----------------------------------------------------------------------------------

अधेड़ ने पेड़ पर फांसी लगाकर दी जान 

खागा/फतेहपुर। खखरेरू थाना क्षेत्र के ख्वाजीपुर थोन गांव में भोर पहर एक अधेड़ ने मानसिक संतुलन ठीक न होने के कारण जंगल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। मौत की खबर सुनते ही परिजनों में कोहराम मच गया। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजवा दिया।

जानकारी के अनुसार ख्वाजीपुर थोन गांव निवासी श्रीनाथ 45 वर्ष पुत्र प्यारेलाल ने मानसिक संतुलन ठीक न रहने के कारण सुबह लगभग 7 बजे जंगल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। बताया जाता है कि सुबह जंगल की ओर जब ग्रामीणों ने शौचक्रिया हेतु गए हुए थे तभी पेड़ से लटकता हुआ देखकर हैरान हो गए और घर आकर उनके परिजनों से अवगत कराया। तभी मौत की खबर सुनकर परिजनों में कोहराम मच गया। तभी परिजनों ने ग्राम प्रधान को बुलाकर पुलिस को सूचित करा दिया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर शव को पेड़ से नीचे उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के पिता ने बताया कि मानसिक संतुलन ठीक नहीं रहता था। एक वर्ष से गांव में ही उपचार किया जा रहा था। गरीबी होने के कारण बाहर इलाज करवाने में असमर्थ थे। बताया कि मृतक के एक पुत्र धर्मेंद्र 25 वर्ष पत्नी सुषमा देवी व माता रानी देवी सभी का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा है। वहीं पुलिस ने बताया कि ग्राम प्रधान की सूचना पर घटनास्थल पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

------------------------------------------------------------------------------------

घायल वृद्ध की उपचार दौरान मौत 

फतेहपुर। हथगाम थाना क्षेत्र के ग्राम रामपुर मून में दो दिन पूर्व आंधी-तूफान के दौरान छत ठीक कर रहे 56 वर्षीय वृद्ध नीचे गिरकर घायल हो गया था। जिसकी इलाज के दौरान देर शाम मौत हो गई। 

बताते चलें कि रामपुर मून गांव निवासी सहदेव का पुत्र शिवबरन दो दिन पूर्व घर की छत ठीक कर रहा था। तभी अचानक तेज तूफान आ गया। जिसके चलते वह नीचे गिरकर घायल हो गया था। परिजन उसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। जहां इलाज के दौरान मंगलवार की शाम उसने दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर विच्छेदन गृह भेज दिया। 

-----------------------------------------------------------------------------------

वृद्धा ट्रेन से कटी 

फतेहपुर। औंग थाना क्षेत्र के ग्राम रहसूपुर के समीप रेलवे लाइन पार करते समय 75 वर्षीय वृद्ध महिला ट्रेन की चपेट में आ गई जिससे उसकी घटनास्थल पर मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस भेजा। समाचार लिखे जाने तक मृतका की पहचान नहीं हो सकी। 

------------------------------------------------------------------------------------

सड़क हादसों में तीन घायल

फतेहपुर। जनपद के अलग-अलग थाना क्षेत्रों के अंतर्गत हुए सड़क हादसों के दौरान तीन लोग घायल हो गए। जिन्हें उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां एक की हालत गंभीर बनी हुई है। 

जानकारी के अनुसार बिंदकी कोतवाली क्षेत्र के कंचनपुर गांव निवासी बाबूलाल का 26 वर्षीय पुत्र राहुल उर्फ बब्लू बुधवार की दोपहर बाइक लेकर बिंदकी कस्बा किसी काम से आ रहा था। जब वह बावनी इमली के समीप पहुंचा उसी दौरान सामने से आ रही चार पहिया वाहन ने टक्कर मार दिया। जिससे वह घायल हो गया। इसी प्रकार मलवां थाना क्षेत्र के उमरगहना गांव निवासी मेवालाल का 28 वर्षीय पुत्र धनराज बुधवार की सुबह बाइक लेकर रिश्तेदारी में जा रहा था। जब वह गांव से कुछ दूर पहुंचा तभी वाहन की टक्कर लग जाने से घायल हो गया। वहीं शहर क्षेत्र के शकुननगर निवासी अनिरूद्ध सिंह का 45 वर्षीय पुत्र बृजराज सिंह मार्ग दुर्घटना में घायल हो गया। सूचना पर पहुंची सरकारी एंबुलेंस ने घायलों को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। जहां राहुल उर्फ बब्लू की हालत गंभीर बनी हुई है। 

------------------------------------------------------------------------------------

दबंग पिता-पुत्र ने दो लोगों को पीट किया घायल

फतेहपुर। हुसैनगंज थाना क्षेत्र के ग्राम मोहम्मदीपुर में बुधवार की दोपहर पुरानी रंजिश को लेकर गांव के ही दबंग पिता-पुत्र ने दो लोगों को लाठी-डंडा व सरिया मारकर घायल कर दिया। जिन्हें उपचार के लिए जिला चिकित्सालय लाया गया। जहां एक की हालत चिंताजनक देखते हुए कानपुर के लिए रेफर कर दिया। 

जानकारी के अनुसार मोहम्मदीपुर गांव निवासी कपूर सिंह यादव का 30 वर्षीय पुत्र दीपक से गांव के ही फूलचंद्र साहू पुत्र गोवर्धन साहू से पुरानी रंजिश चली आ रही है। बताते हैं कि आज सुबह किसी बात को लेकर विवाद हो गया। तभी फूलचंद्र, गोवर्धन व फूलचंद्र के पुत्र अंशू एवं तीन अज्ञात लोगों ने दीपक को पीटना शुरू कर दिया और उसके पेट में सरिया मार दिया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। शोर-शराबा सुन बीच-बचाव करने पहुंचे चचेरे भाई रिंकू यादव पुत्र प्रताप सिंह यादव को भी हमलावरों ने लाठी-डंडा व सरिया मारकर बुरी तरह घायल कर दिया। गंभीर रूप से घायल दीपक सिंह को तत्काल उपचार के लिए जिला चिकित्सालय लाया गया। जहां इमरजेंसी में तैनात चिकित्सक ने उसकी हालत चिंताजनक देखते हुए कानपुर मेडिकल कालेज रेफर कर दिया। 

-----------------------------------------------------------------------------------