उद्योग व्यापार मंडल बांदा के पदाधिकारियों व व्यापारियों के द्वारा मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा

 उद्योग व्यापार मंडल बांदा के पदाधिकारियों व व्यापारियों के द्वारा मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा



शहर के लगभग 200 छोटे व्यापारियों का व्यापार हुआ ठप भूखमरी के कगार पर पहुंचे रेहड़ी पटरी वाले दुकानदार


रिपोर्ट -  ब्यूरो चीफ श्रीकांत श्रीवास्तव


बांदा - जिला उद्योग व्यापार मंडल बांदा के द्वारा  जिलाधिकारी बांदा के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा, जिसमें रेहड़ी पटरी दुकानदारों की समस्या के स्थाई समाधान की मांग रखी गई है रेहड़ी पटरी दुकानदारों के लिए नगर पालिका द्वारा स्थाई स्थान की व्यवस्था कराए जाने सहित, व्यापारियों ने छोटे दुकानदारों के लिए छोटी-छोटी दुकानें बनाकर उनको लागत मूल्य पर आवंटित किए जाने की मांग की गई है।

पूरा मामला बांदा कलेक्ट्रेट सभागार का है। जहां पर आज उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारियों एवं व्यापारियों के द्वारा जिलाधिकारी बांदा के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित ज्ञापन सौंपा, व्यापारियों की मांग है कि जो रेडी पटरी वाले छोटे दुकानदार हैं उनको एक स्थाई जगह दी जाए ताकि वहां पर वह लोग अपना धंधा करके बच्चों का भरण पोषण कर सकें, साथ ही व्यापार मंडल के द्वारा बताया गया कि बाजार में आने वाले ग्राहकों के लिए वाहनों को खड़ा करने के लिए पार्किंग की व्यवस्था कराई जाए, व्यापारियों ने कहा कि अतिक्रमण हटाओ अभियान हम सभी व्यापारी स्वागत करते हैं। उन्होंने बताया कि यह पहल तो अच्छी है लेकिन इससे जो छोटा व्यापारी है उसका रोजगार पूरी तरह से खत्म होता चला जा रहा है।  उद्योग व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष के द्वारा बताया गया  कि अभी तक करीब 200 रेडी पटरी वाले छोटे दुकानदारों का धंधा पूरी तरह से चौपट हो गया है। वहीं करीब 200 से ऊपर रेडी पटरी वाले दुकानदार बाकी हैं। उनका उन पर भी प्रशासन की कार्रवाई लगातार जारी है जिस पर पहले दुकानदारों को स्थाई जगह देने के बाद ही छोटे दुकानदारों को हटाया जाए।

सरकार के अतिक्रमण हटाने के आदेश के बाद तमाम रेहडी पटरी दुकानदारों की रोजी-रोटी छीन गई है, लोग भुखमरी की कगार में पहुंचे पहुंच गए हैं