पशुधन एवं दुग्ध विकास, राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज तथा नागरिक सुरक्षा मंत्री की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक संपन्न

 पशुधन एवं दुग्ध विकास, राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज तथा नागरिक सुरक्षा मंत्री की अध्यक्षता में  समीक्षा बैठक संपन्न




फतेहपुर।पशुधन एवं दुग्ध विकास, राजनैतिक पेंशन, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज तथा नागरिक सुरक्षा विभाग उत्तर प्रदेश के मंत्री धर्मपाल सिंह की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में भूसा, गौआश्रय स्थल, संचारी रोगों के निराकरण संबंधी समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई । उन्होंने कहा कि  गौवंशो के लिए गौशालाओ में पर्याप्त मात्रा में भूषा, हरा चारा, पशु आहार, पानी, प्रकाश आदि की व्यवस्था सुद्रण रखी जाए, गौवंशो के संरक्षण में शिथिलता, लापरवाही न बरती जाए उन्होंने कहा कि ग्राम/शहर में ऐसे पशुपालकों को चिन्हित करें जो दूध न देने पर गायों को छुट्टा छोड़ देते है उनपर सुसंगत धाराओं/पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्यवाही की जाए । इसके लिए ग्राम पंचायतों में चौकीदार, ग्राम विकास अधिकारी, पंचायत सहायक के माध्यम से ऐसे पशुपालकों को चिन्हित करते हुए कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाए। गौवंशो के लिए गौचर भूमि में हरे चारे की बुवाई की जाए, गायों को लू से बचने के लिए टाट पट्टी आदि की व्यवस्था की जाए । गौशालाओ को अपने आप मे सबल हो सके और आर्थिक रूप से मजबूत हो सके इसके लिए गौशालाओ में दुग्ध उत्पादन बढ़ाने का प्रयास किया जाए जो एक अच्छी आमदनी का जरिया है, गौवंश के गोबर को एकत्रित करें जिससे वर्मी कम्पोस्ट, गोबर के लठ्ठे आदि बनाकर समूह की महिलाओं के माध्यम से आमदनी की जा सके । गौवंशो के खाने के लिए नगर पालिका में प्रातः एक वाहन निकाला जाए जिससे लोग अपने घरों से गौवंशो के लिए भोजन, हरा चारा दे सके । उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि भी सप्ताह में एक बार गौशालाओ का औचक निरीक्षण करे और कमियां हो उनमें सुधार लाने का प्रयास करे । उन्होंने कहा कि संचारी रोगों की रोकथाम हेतु गौशालाओ में गौवंशो का टीकाकरण, साफ-सफाई आदि की व्यवस्था की जाए , संचारी रोग की रोकथाम मुख्यमंत्री की शीर्ष प्राथमिकताओं में से एक है । 

उन्होंने जनपद में संचालित गौशालाओ ग्रामीण क्षेत्र में 38 अस्थायी तथा 03 बृहद गौ - संरक्षण स्थापित है एवं शहरी क्षेत्र में 01 कान्हा गौशाला तथा 03 कांजी हाउस संचालित है इस प्रकार जनपद में कुल 45 गौ - आश्रय स्थल संचालित हैं । विभिन्न विकास खण्डों में 07 बृहद गौ संरक्षण केन्द्र निर्माणाधीन हैं बड़नपुर, कोण्डार, तारापुर, सांखा, बैंजानी, भैंसौली, महरहा वर्तमान में जनपद के गौशालाओ में 13640 निराश्रित गोवंश संरक्षित है । माह अप्रैल तथा मई 2022 में अब तक 19369 कुन्तल भूसा क्रय किया गया है तथा 802 कुन्तल दान के रूप में प्राप्त कर कुल 20171 कुन्तल भूसा गौ आश्रय स्थलों तथा प्रधानों द्वारा निजी संग्रह केन्द्रों में भण्डारण किया गया है । उक्त के अतिरिक्त लगातार भूसा भण्डारण की प्रक्रिया चल रही है । गोवंश हेतु हरा चारे की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु कुल 168 बीघे चरी 37 बीघे बहुवर्षीय नैपियर घास लगायी गयी है तथा और नैपियर घास लगाने का कार्य चल रहा है । गौशालाओ को स्वायित्त बनाने के उद्देश्य से 04 गौशालाओं  सलेमाबाद, रारा, रावतपुर, शिवराजपुर में स्वयं सहायता समूहों द्वारा गोबर के लट्ठे बनाये जा रहे हैं , जिसकी विक्री अन्तेष्ठी स्थलों में शवदाह हेतु तथा नगर पालिकायों को ठण्ड में अलाव की व्यवस्था हेतु की जा रही है, जिससे समूहों को साठ हजार रूपये की मासिक आय हो रही है आदि की बिंदुवार समीक्षा किया । 

 बैठक में मंत्री के आह्वान पर  भाजपा जिलाध्यक्ष द्वारा 50 कुन्तल, विधायक जहानाबाद द्वारा 50 कुन्तल, विधायक खागा द्वारा 50 कुन्तल, ब्लॉक प्रमुख हसवा 20 कुन्तल, खजुहा 20 कुन्तल, मलवां 20 कुन्तल, पूर्व जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह लोधी 30 कुन्तल भूषा गौशालाओ को दान देने को कहा ।

उन्होंने कहा कि देश गायों को विलुप्त न होने दिया जाए इसका भरसक प्रयास किया जाए, क्योकि देशी गाय का दूध बहुत ही पवित्र माना जाता है । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सहभागिता योजनांतर्गत इच्छुक पशुपालकों को गाय दी जाए। उन्होंने कहा कि सरकार की नीतियों को समाज के अंतिम पायदान में खड़े व्यक्ति तक पहुचाया जाए । बेरोजगारो को समूह के माध्यम से उद्योगों से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाया जाए ।

मुख्य विकास अधिकारी सत्य प्रकाश ने  मंत्री एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा दिये गए सुझावों/निर्देशो का अधिकारीगण द्वारा अक्षरशः पालन कराया जाएगा । उन्होंने विधायकगणों, ब्लॉक प्रमुखों का बैठक में उपस्थित होने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया ।

इस अवसर पर विधायक खागा श्रीमती कृष्णा पासवान, विधायक जहानाबाद  राजेन्द्र सिंह पटेल भाजपा जिलाध्यक्ष  आशीष मिश्रा, ब्लाक प्रमुख हसवा, खजुहा, मलवां, पूर्व जिलाध्यक्ष  रघुवीर सिंह लोधी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी आर0डी0 अहिरवार, परियोजना निदेशक डीआरडीए एमपी चौबे, जिला पंचायत राज अधिकारी, क्षेत्राधिकारी नगर, डिप्टी सीवीओ, प्रभारी पशु चिकित्सा अधिकारी सहित संबंधित उपस्थित रहे।