दबंग भू माफियाओं द्वारा बंदूक की नोक में किया जबरन कब्जा

 दबंग भू माफियाओं द्वारा बंदूक की नोक में किया जबरन कब्जा



बांदा - जनपद में विकास प्राधिकरण की मिली भगत से अवैध प्लाटिंग का धंधा जोरों पर है नक्शा पास करवाने के एवज में लाखों रुपए की हेराफेरी की जाती है आज एक ऐसा ही एक और मामला बांदा में देखने को मिला जहां दबंग भूमि माफिया जमीन को कब्जा कर प्लाटिंग कर बेच रहे थे।पीड़ित ने अधिकारियों से गुहार लगाई  इसी के चलते मजिस्ट्रेट की मौजूदगी जिलाधिकारी के आदेश पर नाप करने पहुंची थी जांच टीम। दबंगों ने राइफल और रिवाल्वर लेकर पीड़ित परिवार के साथ की मारपीट अफरा तफरी मची।जांच टीम पर ₹20000 रूपए लेकर नाप करने का लगा आरोप।

आपको बतादे की किशोरीलाल निवासी भवानीपुरा रोड सेंट मैरी स्कूल के पास शहर बांदा ने एक शिकायती प्रार्थना पत्र तहसील में दिया था।पीड़ित ने जिलाधिकारी को खतौनी के गाटा संख्या 1049 का रकबा 3 बीघा 18 बिस्वा का है जो प्रार्थी के पूर्वजों के नाम अंकित था परंतु हल्का लेखपाल की गलती से उक्त गाटा का रखवा खतौनी में एक बीघा 18 बिस्वा अंकित कर दिया गया था। जिसे सभी से खातेदारों द्वारा विक्रय कर दिया गया शेष 2 बीघा रकबा में प्रार्थी व परिवार का बीज होकर खेती बाडी करते रहें खतौनी में पीड़ित का नाम हटा दिया गया। यह भी उल्लेखित किया गया की उक्ति भूमि शहर के अति नजदीक है इसलिए उक्त भूमि पर अनाधिकृत रूप से कुछ लोग द्वारा कब्जा कर लिया है। तथा दबंग भू माफियाओं द्वारा बंदूक की नोक में जबरन कब्जा करके अवैध प्लाटिंग करके भूमि विक्रय किए जाने का प्रयास किया जा रहा है।जिलाधिकारी ने आदेश जारी कर कहा था कि संपूर्ण प्रकरण की जांच तहसीलदार की अध्यक्षता में जांच समिति गठित कर की जाए जिसमें नयाब तहसीलदार राजस्व निरीक्षक और क्षेत्रीय लेखपाल सात दिवस में उपलब्ध कराने का आदेश दिया था।कानूनगो योगेंद्र कुमार द्विवेदी ने बताया की जमीन का विवाद चल रहा था जिसके विषय में जिलाधिकारी के आदेश आया था।

आदेश के कारण कई बार जांच टीम लगाई गई लेकिन बरसात होने के कारण जांच नहीं हो पाई थी आज जांच टीम मौके पर पहुंची थी।मौके पर कई नंबर मिलकर के प्लाटिंग की गई थी मौके पर जमीन को चिन्हित किया गया । जांच में पाया गया कि छूटा हुआ नंबर में भी प्लाटिंग कर ली गई है। दूसरे पक्ष ने जांच टीम पर आरोप लगाया है कि ₹20000 लेकर नाप की गई है कानूनगो ने लगाए गए आरोप को बेबुनियाद बताया है और कहा है कि जब जांच टीम वापस आ गई है तब मालूम चला की दोनों पक्षों के बीच विवाद हुआ है राजेंद्र यादव ने बताया कि मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में जमीन की नाप हुई है

टिप्पणियाँ
Popular posts
तेज रफ्तार रोडवेज बस अनियंत्रित होकर खाई मे जा पलटी
चित्र
हुसैनगंज थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम ने मिलकर चोरी की 10 मोटरसाइकिल के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार
चित्र
मानसिक विक्षिप्त लड़की के साथ अस्पताल के कर्मचारी ने किया दुष्कर्म का प्रयास
चित्र
जिलाधिकारी ने 20 से 25 फीसदी से कम दर पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने के लिए निर्देश
चित्र
प्रदेश कमाने गए पति की गैरमौजूदगी में महिला के साथ पड़ोसियों ने किया बदसलूकी
चित्र