बाल सफेद हो या झडने लगे तो हो सकता है थायराइड

 बाल सफेद हो या झडने लगे तो हो सकता है थायराइड



होम्योपैथी से दूर की जा सकती है थायराइड की बीमारी


भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग खुद की तरफ कम ध्यान दे पाते हैं


फतेहपुर। यदि आपके बाल झडने लगे और सफेद हो रहे हों तो सावधान हो जाये क्योंकि यह थायराइड बीमारी होने के लक्षण हो सकते है। इसके अलावा कब्ज होना, भूख ज्यादा लगना, हाथों में कंपन होना, थकान होना भी यह संकेत करता है कि आप थायराइड की चपेट में आ रहे हैं। इसलिये बिना देरी किये जल्द ही कुशल चिकित्सक से सलाह लेकर थायराइड की जांच करा लें। भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग खुद की तरफ कम ध्यान दे पाते हैं। जिस कारण वह लोग विभिन्न रोगों से ग्रसित हो जाते हैं। जिस पर वह लोग दवाइयों पर निर्भर हो जाते हैं। इसी प्रकार एक समस्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, वो है थायराइड। इस बीमारी का सफल इलाज होम्योपैथी में है।

जिला अस्पताल में तैनात होम्योपैथिक के चिकित्सक डा. सुरेश चन्द्र राजवंशी ने बताया कि बड़े बच्चों और किशोरों में वजन का बढ़ना, कमजोरी, चिड़चिड़ापन, मासिक धर्म में अनियमितता, आवाज का कर्कश होना, ज्यादा गर्मी लगना और आंखों में सूजन थायरॉयड के लक्षण हो सकते हैं। वहीं बडों में थायराइड ग्रंथि या गण्डमाला का आकार बढ़ना, घबराहट होना, मांसपेशियों में कमजोरी और कंपकंपी होना, तनाव महसूस होना, चिड़चिड़ापन होना जैसे लक्षण हो सकते है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक मनुष्य के गले के सामने के भाग में तितली के आकर की एक ग्रंथि होती है, जिसे थायराइड ग्लैंड कहते हैं। इससे हार्मोंस स्रवित होते हैं। टी-थ्री यानी त्रिआइडोथायरानिन और टी-फोर यानी थायराक्सिन मुख्य हार्माेन होते हैं। इन हार्मोंस को ब्रेन की पिट्यूटरी ग्लैंड से स्रवित थायराइड स्टिम्युलेटिंग हार्माेन (टीएसएच) नियंत्रित करता है। टी-थ्री और टी-फोर शरीर में मेटाबालिज्म को नियंत्रित करते हैं। उन्होंने बताया कि इन हार्मोंस के अलावा केल्सिटानिन नामक हार्माेन भी स्त्रावित होता है। यह शरीर में कैल्शियम और फास्फेट को नियंत्रित करता है। थायराइड रोग कई प्रकार के हो सकते है। उन्होंने बताया कि होम्योपैथी में रोग के कारण को दूर करके रोगी को ठीक किया जाता है। प्रत्येक रोगी की दवा उसकी शारीरिक और मानसिक अवस्था के अनुसार अलग-अलग होती है।


 इनसेट --


यह हैं थायराइड के लक्षण


कब्ज होना।


डिप्रेशन होना।


शरीर का तापमान बढ़ना व कम होना।


भूख ज्यादा लगना।


हाथों में कंपन होना।


पसीना ज्यादा आना।


बाल सफ़ेद होना व झड़ना।


थकान होना।


 चिड़चिड़ाहट होना।


खुजली होना।


सांस लेने में तकलीफ होना।


नर्वस होना।


धड़कन बढ़ना या कम होना।


तेजी से वजन बढ़ना या कम होना।

Popular posts
खेत जा रही देवरानी जेठानी को दबंग परिजनों ने पीटकर किया लहूलुहान
चित्र
ओम घाट में डूबती महिला को पीएसी जवान ने बचाया
चित्र
नगरी निकाय सामान्य निर्वाचन 2022 सहित तैयार कर आने जाने वाली मतदाता सूची के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न
चित्र
आकाशीय बिजली गिरने से पेट्रोल पंप में हुआ भारी नुकसान
चित्र
नवागंतुक मुख्य विकास अधिकारी ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद विकास भवन के कार्यालय में जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय, सहकारिता कार्यालय, आरईएस, जल शक्ति कार्यालय आदि कार्यालयों का किया औचक निरीक्षण
चित्र