एक बार फिर से अचानक जमुना नदी का जलस्तर बढ़ने से दर्जनों गांव पड़े खतरे में

 एक बार फिर से अचानक जमुना नदी का जलस्तर बढ़ने से दर्जनों गांव पड़े खतरे में



चेतावनी बिंदु पार कर बह रही जलधारा। कई गांव का संपर्क टूटा गया नाव से हो रहा आवागमन


फतेहपुर। गंगा जमुना का जलस्तर अचानक तेजी से बढ़ रहा है। मंगलवार की रात को अचानक से बाढ़ आने से जमुना तटवर्ती इलाकों में दहशत का माहौल बन गया है। किसानों की खड़ी फसल डूब रही है। जिसे किसानों को भुखमरी का सामना करना पड़ सकता है। यमुना का जलस्तर 3 मीटर उफान पर पहुंच गया है महज 24 घंटे में जलस्तर में करीब 3 मीटर बढ़ने से तटवर्ती गांव के ग्रामीणों में दहशत दिखाई देने लगी हैं। वहीं कई गांव का संपर्क टूटने के बाद वहां पर नाव का एक बार फिर संचालन शुरू हो चुका है। साथ ही ग्रामीणों से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने की अपील की जा रही है। तेजी से बढ़ रहे जलस्तर को देखते हुए तटवर्ती गांव में अलर्ट जारी करते हुए राजस्व कर्मी की ड्यूटी लगाई गई है। वही बाढ़ से प्रभावित गांव में एसडीएम प्रवीण आनंद और मजिस्ट्रेट सहित प्रभावित गांव का निरीक्षण किया प्रभावित गांव में ललौली,पल्टूपुर, अढावल, दसौली,उरौलीं,कोर्रा कनक,दतौली आदि गांव में खतरा मंडराने लगा है। वही एसडीएम प्रवीण आनंद ने बताया कि 102 मीटर पानी आने की संभावना है। पिछले वर्ष 100 मीटर पानी आया था इस साल 2 मीटर ऊंचाई पानी ज्यादा आ रहा है। जिससे प्रभावित गांव के ग्रामीणों से कहा कि ऊंचाई की जगह में अपना स्थान बना ले या फिर ललौली इंटर कॉलेज में सभी लोग डेरा डाल सकते हैं।ललौली इंटर कॉलेज में सारी व्यवस्थाएं मुहैया कराई गई हैं। बाढ़ प्रभावित ग्रामीणों की हर संभव मदद की जाएगी।

Popular posts
खेत जा रही देवरानी जेठानी को दबंग परिजनों ने पीटकर किया लहूलुहान
चित्र
ओम घाट में डूबती महिला को पीएसी जवान ने बचाया
चित्र
नगरी निकाय सामान्य निर्वाचन 2022 सहित तैयार कर आने जाने वाली मतदाता सूची के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न
चित्र
आकाशीय बिजली गिरने से पेट्रोल पंप में हुआ भारी नुकसान
चित्र
नवागंतुक मुख्य विकास अधिकारी ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद विकास भवन के कार्यालय में जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय, सहकारिता कार्यालय, आरईएस, जल शक्ति कार्यालय आदि कार्यालयों का किया औचक निरीक्षण
चित्र