नाग पंचमी के अवसर पर शिवालयों में लगी भक्तों की भीड़

 नाग पंचमी के अवसर पर शिवालयों में लगी भक्तों की भीड़



बांदा  - आज जनपद बांदा सहित पूरे देश में नाग पंचमी का त्यौहार मनाया जा रहा है जनपद बांदा के प्रसिद्ध बांबेस्वर मंदिर में भक्तों की लगी भीड़ वही जनपद बांदा के अन्य मंदिरों में भी लोग पहुंचकर भगवान भोलेनाथ एवं नाग देवता की पूजा अर्चना की

आपको बतादे की नाग पंचमी सावन महीने में शुक्ल पंचमी को मनाई जाती है. इस दिन शिवभक्त नाग देवता की विशेष पूजा-अर्चना करते हैं. मंदिरों में नाग देवता का जलाभिषेक किया जाता है और उन्हें दूध चढ़ाया जाता है. इस दिन शिवभक्त उपवास भी रखते हैं. मान्यता है कि इस दिन नाग देवता की पूजा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और भक्तों के सभी कष्ट दूर करते हैं. 

हिंदू त्योहारों में नाग पंचमी का खास महत्व है. नाग

भगवान शिव के गले का आभूषण है. नाग पंचमी पर जीवन में सुख-समृद्धि, के लिए नाग देवता की पूजा की जाती है. नाग पंचमी के त्योहार पर नाग देवता के साथ ​भगवान भोलेनाथ की पूजा व रुद्राभिषेक करने से जीवन में कालसर्प दोष खत्म होता है. इस दिन नागों को अभिषेक कराने और उन्हें दूध चढ़ाने से पुण्य की प्राप्ति होती है. शास्त्रों के अनुसार, नाग पंचमी पर अगर घर के बाहर सांप का चित्र बनाया जाता है तो इससे नाग देवता की कृपा परिवार पर बनी रहती है.