गांधीजी व शास्त्री जी की जयंती पर ज्योति बाबा का नशा मुक्त आवाहन..

 गांधीजी व शास्त्री जी की जयंती  पर ज्योति बाबा का नशा मुक्त आवाहन..



सत्य अहिंसा एवं नशा मुक्त भारत का पाठ पढ़ा कर भारत का विश्व में बढ़ाया मान..ज्योति बाबा 


नशा मुक्ति युवा भारत के लिए फिर जन्म ले लो प्यारे बापू.. ज्योति बाबा 


गांधी जी और लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती पर्व पर नशा के महादैत्य को परास्त करने का युवा पीढ़ी ले संकल्प.. ज्योति बाबा 


कानपुर/लखनऊ। खादी मेरी शान है कर्म ही मेरी पूजा है सच्चा मेरा कर्म है हिंदुस्तान मेरी जान है और नशा मुक्त भारत पर मुझे अभिमान है उपरोक्त बात नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल के तहत सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में गांधी जयंती एवं लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती पर्व की पूर्व संध्या पर आयोजित नशा मुक्ति युवा भारत के लिए बनाई गई मानव श्रृंखला के बाद हुई स्वास्थ्य सभा में गांधी जी पर अपने विचार व्यक्त करते हुए अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल के नेशनल ब्रांड अंबेसडर योग गुरु ज्योति बाबा ने कही,ज्योति बाबा ने आगे कहा कि गांधीजी ने चंपारण में उस समय कहा था कि शराब,आत्मा और शरीर दोनों का नाश करती है देश के इस बेहद गंभीर और विचारणीय विषय को हल करने के लिए गांधीवाद का नशा मुक्त सिद्धांत वर्तमान में कहीं अधिक प्रासंगिक बनता जा रहा है स्वास्थ्य संकल्प सभा की अध्यक्षता करते हुए आरआर ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन के चेयरमैन अनिल अग्रवाल ने कहा कि 125 साल तक जीने की चाह रखने वाले गांधी जी ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि उनके दर्शन का अनुकरण करने वाले उनके अपने प्यारे भारत देश के युवा ड्रग्स और नशे की लत में पड़कर 30 से 35 साल की आयु में ही अपनी ईहलीला समाप्त कर लेने में ही अपनी शान समझेंगे। रेलवे बोर्ड भारत सरकार के सदस्य कमरुद्दीन उर्फ जुगनू ने कहा कि युवा पीढ़ी का नशाखोरी की ओर बढ़ना भारतीय समाज के लिए बहुत घातक हो सकता है। इसीलिए हम सबको मिलकर गांधी के सिद्धांतों के अनुरूप भारत के बचपन को नशा, प्रदूषण,कुपोषण से बचाने का संकल्प गांधी जयंती पर करना है। बाराबंकी के जिला प्रभारी सुमित राज ने कहा की सबसे तकलीफ देह बात यह है कि भारत के युवा इन सिने कलाकारों को अपना रोल मॉडल मानते हैं वही आज गांधी जी के व्यसन विरोधी सिद्धांत की जड़े काटने पर उतारू हैं, युवाओं में नशीली दवाओं की तेजी से बढ़ रही लत गांधीवादी पारंपरिक बंधनों,प्रभावी सामाजिक निषेधो, आत्म संयम,अनुशासन जैसे जीवन के आदर्श खोखले होते जा रहे हैं। मध्य प्रदेश प्रभारी स्वामी हिंदू नाथ,बुंदेलखंड अध्यक्ष अंचल अर्जरिया,जिला प्रभारी झांसी इंजीनियर विनोद कुमार,जिला अध्यक्ष चंद्र पेंटर ने संयुक्त रूप से कहा कि अभी भी समय है देश के कम से कम वे युवा जो इस नशे की गर्त में जाने से बचे हुए हैं यानी निश्चित ही समझदार हैं वही गांधीवाद की प्रासंगिकता का गहन अनुशीलन करें और अपने हमउम्र नागरिकों को नशे के इस महादैत्य के विनाश से बचाकर राष्ट्र के नव सृजन के लिए गांधीजी व लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती पर्व पर संकल्पित होकर सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करें। अंत में सभी को नशा मुक्ति युवा भारत के लिए देश के अमर क्रांतिकारियों की तरह सर्वस्व निछावर करने का संकल्प योग गुरु ज्योति बाबा ने कराया। अन्य प्रमुख सर्व श्री सुभाष जैन, उपाध्यक्ष अंजू सिंह,मानवाधिकार वादी गीता पाल,दिलीप शुक्ला,प्रदीप अग्रवाल,नशा मुक्त एक्टिविस्ट कुंवर बहादुर सिंह,अनिल गुप्ता इत्यादि थे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
लड़की से अभद्रता करना युवक को पड़ा भारी,
चित्र
रेलवे परिसर में बने हनुमान मंदिर को गिराने के लिए रेलवे प्रशासन की नोटिस
चित्र
नाबालिक हिंदू लड़की को अपहरण कर, धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाने वाले अभियुक्त के घर में चला बुलडोजर,
चित्र
डीआईजी एवं एसपी ने किया घटना स्थल का निरीक्षण, संदिग्ध परिस्थितियों में मिला था किसान का शव
चित्र
यातायात नियमों का पालन करने से होती अपनी सुरक्षा:एसडीएम
चित्र