संपूर्ण समाधान दिवस के उपरांत जिलाधिकारी ने कई परियोजनाओं का किया निरीक्षण

 संपूर्ण समाधान दिवस के उपरांत जिलाधिकारी ने कई परियोजनाओं का किया निरीक्षण



फतेहपुर।जिलाधिकारी श्रीमती श्रुति ने संम्पूर्ण समाधान दिवस के उपरांत निर्माणाधीन परियोजनाओं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में एकेडमिक भवन व हॉस्टल ऐराया एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय आश्रम पद्वति विद्यालय खासमऊ खागा में शिक्षकों/कर्मचारियों के भवन का निरीक्षण किया। 

 रु0 01.95 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ऐराया के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने निर्माण किये गए भवनों को नक्शे के अनुसार देखा और कहा कि तकनीकी जांच कराते हुए मानक के अनुरूप समय गुणवत्तापूर्ण कार्य पूर्ण कराते हुए समय से हैंडओवर की कार्यवाही की जाय ताकि जल्द से जल्द क्षेत्रीय नागरिको को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हो सके । निर्माणाधीन भवनों में विद्युत संम्बंधी कार्य, फिनिशिंग, पेंटिंग आदि कार्य कराने के बाद ही हैंडओवर की प्रक्रिया पूर्ण के निर्देश कार्यदायी संस्था आवास विकास परिषद प्रतापगढ़ को दिए। उन्होंनेमुख्य चिकित्साधिकारी से कहा कि मानक के अनुरूप सभी कार्यो को देखते हुए निर्माण कार्य व हैंडओवर की प्रक्रिया पूर्ण करें। निरीक्षण के दौरान कार्य बंद पाए जाने एवं अधिशाषी अभियंता आवास विकास परिषद प्रतापगढ़ के अनुपस्थित रहने पर स्पष्टीकरण जारी करने के निर्देश संबंधित को दिए ।

रु0 03.16 करोड़ की लागत से कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय ऐराया में एकेडमिक भवन व हॉस्टल के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया, के दौरान जिलाधिकारी कहा कि मिट्टी के भराव का कार्य लेवल मिलाकर कराया जाय ताकि पानी का जमाव न होने पाए। उन्होंने कहा कि निर्माणधीन कार्यो को समय से पूर्ण कराने के निर्देश कार्यदायी संस्था यू0पी0पी0सी0एल0 को दिए। 

पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय आश्रम पद्वति विद्यालय खासमऊ खागा में रु0 02.89 करोड़ की लागत से निर्माणधीन शिक्षकों/कर्मचारियों के भवन का निरीक्षण किया, के दौरान जिला समाज कल्याण अधिकारी से कहा कि बजट की मांग के लिए शासन स्तर पर पत्राचार किया जाये और निर्माण कार्य मानक व गुणवत्तापूर्ण ढंग से समय पूर्ण कराया जाय। उन्होंने पाया कि छात्र क्षमता 490 के सापेक्ष 337 छात्र पंजीकृत पाए गए, जिसमे 314 छात्र आवासित पाए गए। निर्माणाधीन भवन में टाईप-3 के प्रधानाचार्य आवास-1, निर्माणाधीन अध्यापक आवास टाइप-2 के 12 आवास, निर्माणाधीन चतुर्थ श्रेणी के आवास टाइप-1 के 06 आवासो का निर्माण किया जाना है, को बनाये गए नक्शे के अनुसार गुणवत्तापूर्ण सामग्री का प्रयोग कराते हुए समय से पूर्ण कराने के निर्देश कार्यदायी संस्था उ0प्र0 राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 लखनऊ को दिए। 

इस अवसर पर मुख्यचिकित्साधिकारी डॉ0 सुनील भारती, जिला अर्थ एवं संख्यधिकारी जोगेन्द्र सिंह यादव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी संजय कुशवाहा, जिला समाज कल्याण अधिकारी अवनीश यादव सहित कार्यदायी संस्था के पदाधिकारी उपस्थित रहे ।

टिप्पणियाँ