खागा के रामनगर में फैला डेंगू मलेरिया रोग

 खागा के रामनगर में फैला डेंगू  मलेरिया  रोग



खागा/फतेहपुर। नगर के सक्षम अधिकारी आजकल किसी के मरने पर भी नौबस्ता घाट से मुक्तिधाम तक देखे जा सकते हैं कितनी बड़ी चिंता है नगर वासियों की या उनका इंतजार किया रहा जा रहा है उन जगहों पर।      क्यों जरूर आएंगे लेकिन सोचने वाली बात यह है कि रामनगर में गली मोहल्लों के बीच में पड़े प्लाटों पर गंदगी का अंबार लगा हुआ जिसके कारण मलेरिया डेंगू जैसे मच्छरों से लोग परेशान हैं तो वहीं काफी लोग बीमार हैं लगभग 15 से 20 मरीज जो अपना इलाज इधर-उधर करा रहे हैं लेकिन उन्होंने किसी से कहा नहीं आखिर उनकी सुनेगा कौन कि हमें मलेरिया या डेंगू जैसी भयानक बीमारियां जकड़ रही हैं क्योंकि मोहल्ले में एक मैदान ऐसा भी है जहां वर्षभर दलदल बना रहता है और जो भी प्लाट खाली पड़े हैं उनमें तो सड़कों पर झाड़ू लगाकर उनका कूड़ा वहीं पर डाल दिया जाता है या गली मोहल्ले के लोग वहीं पर कूड़ा डालते हैं जिससे भारी-भरकम कचरे मोहल्लों में खाली प्लाटों में देखे जा सकते हैं कई बार खबर प्रकाशित करने के बाद भी नगर पंचायत के कानों में जूं नहीं रेंगती है क्योंकि उन्हें पता है कि जू कानों में नहीं बालों में रहती है तो रहने दीजिए

अंबे मेडिकल वालों की चक्की के पास नाला तो बनाया गया लेकिन नाले में पानी निकलने की व्यवस्था नहीं है वही वहां पर कुछ दबंग प्रकृति के धनवान लोग रहते हैं जो उसी मैदान पर अपने घरों का पानी बहाते हैं  इसकी कोई व्यवस्था नहीं की गई पिछले लगभग 15 सालों से निवास करने वाले लोग इस बात को बताते हैं कि नाला तो बगल में बना है लेकिन नाले में पानी नहीं बहाया जाता बल्कि मैदान में ही पानी भरा रहता है आखिर नगर पंचायत कितना अपने नगर वासियों का ध्यान रखती है इसी बात से पता लगाया जा सकता है कि साफ-सफाई के अभाव में इस मैदान में जहां पर पेड़ पौधे ढेर सारे उगे हुए हैं वही नालियों का पानी भरा रहता है जिससे डेंगू और मलेरिया जैसे मच्छर पनप रहे लेकिन आश्चर्य का विषय यह है कि अभी तक ना वहां पर कोई साफ सफाई कर्मचारी पहुंच पाते हैं और ना किसी प्रकार की दवा का छिड़काव हो पाता है हां इतना जरूर होता है किसी के मरने पर मुक्तिधाम या नौबस्ता घाट पर यह जिम्मेदार लोग अवश्य मिल जाते हैं जिससे इनका वोट बैंक भी सुरक्षित रहता है और इनकी मिलन सरिता और उदार वार्ता वहीं पर दिखाई देती है इसके बाद सब कुछ नदारद हो जाता है आने वाले सफाई कर्मियों के पास इतना समय नहीं रहता कि वही मैदानों तक पहुंच सके या दवा छिड़कने वाले लोग आते हैं तो दरवाजे पर तो दवा छिड़कने लेकिन इन मैदानों की तरफ कभी इनका मुंह नहीं मुड़ता है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
हुसैनगंज थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम ने मिलकर चोरी की 10 मोटरसाइकिल के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार
चित्र
राजस्व टीम ने ग्राम सभा की नवीन परती जमीन को कब्जेदारों से कराया मुक्त
चित्र
जिलाधिकारी दीपा रंजन ने विकास खण्ड बिसण्डा के सभागार में ग्राम प्रधानों के साथ की समीक्षा बैठक
चित्र
तेज रफ्तार रोडवेज बस अनियंत्रित होकर खाई मे जा पलटी
चित्र
चोरी की पांच मोटर साइकिलों समेत पांच गिरफ्तार
चित्र