राष्ट्रीय युवा दिवस पर ज्योति बाबा का नशा मुक्त आवाहन

 राष्ट्रीय युवा दिवस पर ज्योति बाबा का नशा मुक्त आवाहन



जैसा तुम सोचोगे वैसा ही बन जाओगे:स्वामी विवेकानंद

 

स्वामी विवेकानंद जी ने कहा! कि उठो जागो और तब तक नहीं रुको जब तक लक्ष्य प्राप्त ना हो जाए 

 

जब तक जीवन है तब तक सीखते रहो:स्वामी विवेकानंद


 जितना बड़ा संघर्ष होगा जीत उतनी ही शानदार होगी:स्वामी विवेकानंद 

 


कानपुर । स्वामी विवेकानंद जैसे महापुरुष सदियों में एक बार ही जन्म लेते हैं जो अपने जीवन के बाद भी लोगों को निरंतर प्रेरित करने का कार्य करते हैं यदि हम उनके बताए गई बातों पर अमल करें तो हम समाज की हर कट्टरता के साथ नशे की बुराई को दूर करने में भी सफल हो सकते हैं उपरोक्त बात नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल के तहत सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में स्वामी विवेकानंद जी के जन्म दिवस राष्ट्रीय युवा दिवस के परिप्रेक्ष्य में आयोजित ई संगोष्ठी शीर्षक नशा मुक्त भारत और स्वामी विवेकानंद के विचार पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख व नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल के नेशनल ब्रांड एंबेसडर योग गुरु ज्योति बाबा ने कही, ज्योति बाबा ने आगे कहा कि भारतीय संस्कृत में गुरु शिष्य परंपरा का उत्कृष्ट उदाहरण स्वामी विवेकानंद ने अपनी अनन्य भक्ति और निष्ठा के प्रताप से दिया जो आज अपने को आधुनिक कहने वाले छात्रों के लिए एक उत्कृष्ट उदाहरण है, ज्योति बाबा ने आगे बताया कि स्वामी जी ने अमेरिका में उत्कृष्ट भारतीय चिंतन की मिसाल बनकर भक्तों का एक बड़ा समुदाय बना लिया अपने तीन वर्ष के अमेरिका प्रवास के दौरान वहां के लोगों को भारतीय तत्वज्ञान की अद्भुत ज्योति प्रदान करते रहे, स्वामी जी का दृढ़ विश्वास था कि आध्यात्मिक विद्या और भारतीय दर्शन के बिना अनाथ हो जाएगा । जिला प्रभारी बाराबंकी सुमित राज ने कहा कि वर्तमान में भारत के युवा जिस महापुरुष के विचारों को आदर्श मानकर उससे प्रेरित होते हैं युवाओं के मार्गदर्शक और भारतीय गौरव हैं स्वामी विवेकानंद। सोशल ऑडिट टीम के कुंदन सैनी व बबीता श्रीवास्तव ने कहा कि भारत की गरिमा को वैश्विक स्तर पर सम्मान के साथ बरकरार रखने के लिए स्वामी विवेकानंद के कई उत्कृष्ट उदाहरण इतिहास में मिलते हैं। प्रदेश उपाध्यक्ष अंजू सिंह व मानवाधिकारवादी गीता पाल ने कहा कि स्वामी जी ने अपने महान कार्यों द्वारा पाश्चात्य जगत में सनातन धर्म,वेदों तथा ज्ञान शास्त्र को काफी ख्याति दिलाई और विश्व भर में लोगों को अमन तथा भाईचारे का संदेश दिया। वरिष्ठ समाजसेवी व्यापारी नेता अजीत रस्तोगी ने कहा कि शिकागो सर्वधर्म सम्मेलन में अपने उद्बोधन के द्वारा स्वामी जी ने विश्वभर को भारत के अतिथि देवो भव: सहिष्णुता और सार्वभौमिक स्वीकार्यता के विषय से परिचित कराया। समाजसेवी हरिशंकर पाल व जनता विकास सेवा संस्थान के जीतेंद्र सविता ने कहा कि स्वामी विवेकानंद एक सच्चे गुरु भक्त थे और रामकृष्ण मिशन की स्थापना करते हुए अपने गुरु का नाम रोशन किया। ई संगोष्ठी का संचालन जिला प्रभारी झांसी विनोद कुमार धन्यवाद नेहरू युवा केंद्र के सुशील बाजपेई ने दिया। अंत में सभी को स्वामी विवेकानंद जी के आदर्शो को आत्मसात कराते हुए नशा मुक्त भारत का संकल्प ज्योति बाबा ने कराया।

टिप्पणियाँ
Popular posts
विकास को 7 बार किस सांप ने काटा? सामने आई सच्चाई, अफसरों ने सुलझाई सच और झूठ की पहेली
चित्र
विप्लवी ने असिस्टेंट कमिश्नर बन कर जनपद का नाम किया रोशन
चित्र
असोथर के 45 शिक्षकों ने संकुल पद से दिया इस्तीफा, धरना प्रदर्शन करके सरकार विरोधी लगाए नारे
चित्र
छात्र शौर्य द्विवेदी ने कबाड़ी से बनाई इलेक्ट्रिक बाइक
चित्र
सरकारी राशन की दुकान बंद,धान लगा रहे कोटेदार, राशन लेने के लिए भटक रहे कार्ड धारक
चित्र