प्रधानमन्त्री आवास के नाम पर धन उगाही का ग्रामीणों ने लगाया आरोप,

 प्रधानमन्त्री आवास के नाम पर धन उगाही का ग्रामीणों ने लगाया आरोप, 



श्रीकांत श्रीवास्तव ब्यूरो बाँदा



बाँदा - उत्तर प्रदेश के बांदा जनपद से एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई है जिसमे गरीबों से ही धन उगाही का कार्य किया जा रहा है। आपको बता दे कि सरकार की योजनाओं के तहत ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत जिम्मेदारों द्वारा ग्रामीणों के नाम तो दर्ज किए गए लेकिन मन मुताबिक पैसे न मिलने पर गरीब ग्रामीणों के नाम ही लिस्ट से हटा दिया।अब भला सरकार को कब तक ऐसे जिम्मेदार लोग चूना लगाएंगे और कब तक सरकार इनके काले कारनामों की वजह से बदनाम होगी।

वहीं इस समस्या को लेकर शुक्रवार 24 फरवरी को गरीब ग्रामीण  अपनी फरियाद लेकर  जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे और ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया कि ब्लाक बडोखर खुर्द ग्राम पंचायत मौदहा में चयनित आवास वर्ष 2019 - 20 में जाँच करके उचित लोगो को गरीब पात्रता सूची में नाम रखा गया था। शासन के द्वारा वर्तमान समय में बजट आ गया है और जिन लाभार्थियों का चयन किया गया है उनके पास न तो पक्का मकान है न ही कोई भूमि है और न ही दो पहिया या चार पहिया वाहन है। फिर भी हम लोगो का नाम लिस्ट से काट दिया गया है। वहीं आगे बताया गया कि लिस्ट में नाम दर्ज करवाने के लिए सचिव साहब द्वारा पैसों की मांग की जा रही है। अब हम गरीब लोग कहां से पैसे लाए। अब देखना यह है कि जिम्मेदार लोगों पर शासन प्रशासन किस प्रकार की कार्यवाही करेगा और क्या गरीबों को मिलेगा उनका अधिकार या ऐसे ही ग्रामीण लोग जिम्मेदारों के सामने गिड़गिड़ाते रह जायेंगे

टिप्पणियाँ
Popular posts
विकास को 7 बार किस सांप ने काटा? सामने आई सच्चाई, अफसरों ने सुलझाई सच और झूठ की पहेली
चित्र
असोथर के 45 शिक्षकों ने संकुल पद से दिया इस्तीफा, धरना प्रदर्शन करके सरकार विरोधी लगाए नारे
चित्र
सरकारी जमीन पर मस्जिद निर्माण से तनाव, हिंदू संगठनों ने की महापंचायत
चित्र
असोथर बैंक के स्थापना दिवस पर संगोष्ठी एवं ग्राहक अभिनंदन के साथ किया गया वृक्षारोपण
चित्र
विप्लवी ने असिस्टेंट कमिश्नर बन कर जनपद का नाम किया रोशन
चित्र