गायत्री ज्ञान मंदिर का ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत में 392वाँ युगऋषि ऋषि वाङ्मय की स्थापना

 गायत्री ज्ञान मंदिर का ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत में 392वाँ युगऋषि ऋषि वाङ्मय की स्थापना



‘ऋषि का सद्साहित्य मानवीय मूल्यों का बोध कराता है:उमानंद शर्मा


लखनऊ।गायत्री ज्ञान मंदिर इंदिरा नगर, लखनऊ के विचार क्रान्ति ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत ‘‘भातखंडे संस्कृति विश्वविद्यालय लखनऊ‘‘ के संदर्भ पुस्तकालय में गायत्री परिवार के संस्थापक युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा रचित सम्पूर्ण 79 खण्डों का 392वाँ ऋषि वांड़मय की स्थापना कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। उपरोक्त साहित्य गायत्री परिवार की सक्रीय कार्यकर्ता  सी.के. त्रिपाठी एवं उनकी धर्मपत्नी श्रीमती सुधा त्रिपाठी ने अपने पूज्य माता-पिता स्व. उमाशंकर त्रिपाठी एवं स्व. सुशीला त्रिपाठी की स्मृति में एवं छात्र-छात्राओं एवं संकाय सदस्यों को अखण्ड ज्योति पत्रिका भेंट की। 

इस अवसर पर वाङ्मय स्थापना अभियान के मुख्य संयोजक उमानंद शर्मा ने कहा कि ‘ऋषि का सद्साहित्य मानवीय मूल्यों का बोध कराता है। सी. के. त्रिपाठी,  पी.डी. सरास्वत ने भी अपने विचार रखे संस्थान के कुलपति श्रीमती माण्डवी सिंह  धन्यवाद ज्ञापन व्यक्त किया।

इस अवसर पर उमानंद शर्मा,  वी.के. श्रीवास्तव, सी.के. त्रिपाठी, श्रीमती सुधा त्रिपाठी,  पी.डी. सरास्वत, संस्थान के कुलपति श्रीमती माण्डवी सिंह, प्रो. सीमा भरद्वाज, डॉ. सृष्टि धवन, रजिस्टार कमलेश दुबे, डॉ. रूचि खरे, डॉ.प्रदीप तिवारी, आनंद कुमार, उत्कर्ष चन्द्रा, विभागाध्यक्ष संकाय सदस्य सहित छात्र-छात्रायें, मौजूद थे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
आयुष्मान भवः की बैठक कलेक्ट्रेट महात्मा गांधी सभागार में जिलाधिकारी श्रीमती श्रुति की अध्यक्षता में संपन्न हुई
चित्र
सेनानायक द्वारा स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पीएसी के जवानों को शपथ दिलाकर उनके कर्तव्य को दिलाया गया याद
चित्र
हुंडई शोरूम रुमा में तिजोरी तोड़कर 08.50 लाख की चोरी, घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद
चित्र
सड़क में बिखरी गिट्टियों के कारण दुर्घटनाएं बड़ी
चित्र
यज्ञ करने से जीवन होता सफल :आचार्य विश्वव्रत शास्त्री
चित्र