चिंता और उलझन से होते लोग मानसिक रोगी---डॉ रिंकी
चिंता और उलझन से होते लोग मानसिक रोगी---डॉ रिंकी
---- मानसिक रोगी बाद में हो जाते डिप्रेशन का शिकार
बिंदकी फतेहपुर
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्वास्थ्य विभाग द्वारा मानसिक रोग जागरूकता अभियान कार्यक्रम आयोजित किया गया इस मौके पर मौजूद मनोरोग विशेषज्ञ डॉक्टर रिंकी ने कहा कि चिंता, उलझन तथा एकाकीपन से लोग मानसिक रूप से अस्वस्थ हो जाते हैं। और आगे चलकर डिप्रेशन या अवसाद का शिकार भी हो जाते हैं लेकिन यह कोई लाइलाज बीमारी नहीं है। ठीक से उपचार और देखभाल करने से व्यक्ति पहले की तरह पूरी तरह से स्वस्थ हो जाता है
     गुरुवार की दोपहर को नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में मानसिक स्वास्थ्य विभाग फतेहपुर द्वारा एक मानसिक रोग जागरूकता अभियान कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष राधा साहू ने फीता काटकर किया इस मौके पर मौजूद मनोरोग विशेषज्ञ डॉक्टर रिंकी ने कहा कि आज के भौतिक युग में चिंता और उलझन गंभीर समस्या है और इसी कारण व्यक्ति मानसिक रूप से अस्वस्थ हो जाता है और आगे चलकर मानसिक रोगी हो जाता है इतना ही नहीं समय से देखभाल और उपचार न होने पर आगे चलकर व्यक्ति डिप्रेशन या अवसाद का शिकार भी हो जाता है मानसिक रूप से अस्वस्थ होने पर व्यक्ति को नींद कम आती है या बहुत ज्यादा सोते हैं सो कर उठने पर सिर भारी रहता है एकाग्रता की कमी होती है डर लगता है शक होता है और भावना कुंठित होती है निश्चित रूप से नियमित इलाज और चिकित्सक की परामर्श से व्यक्ति पूरी तरह से स्वस्थ हो सकता है उन्होंने कहा कि मानसिक रोगी व्यक्ति बाहर से तो पूरी तरह से स्वस्थ दिखता है लेकिन अंदरुनी रूप से अस्वस्थ होता है इस मौके पर आए हुए लोगों को फल व बिस्किट भी दिए गए इस मौके पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की अधीक्षक डॉ धर्मेंद्र सिंह डॉक्टर पंकज अवस्थी डॉक्टर संदीप के अलावा मानसिक स्वास्थ्य विभाग फतेहपुर की टीम के सतीश तथा आशीष आदि लोग मौजूद रहे
टिप्पणियाँ
Popular posts
वर्षा/ ओलावृष्टि के कारण भेडो में मची भगदड़ के चलते 167 भेडो की मौत जबकि 16 भेडे घायल
चित्र
यूपीएससी में हुआ किसान के बेटे का चयन,किया गांव का नाम रोशन
चित्र
पत्नी द्वारा लगाए गए आरोप को पति ने बताया मनगढ़ंत कहानी
चित्र
व्यापारी के साथ हुई मारपीट कांड की डीसीपी ने की जांच पडताल
चित्र
पत्नी के नाम खरीदी प्रॉपर्टी पर परिवार का भी हक, मकान-जमीन रजिस्ट्री कराने से पहले जान लें HC का फैसला
चित्र