अंतरराष्ट्रीय बाजार में प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं जैविक उत्पाद

 अंतरराष्ट्रीय बाजार में प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं जैविक उत्पाद



जैविक खेती मे लागत कम और लाभ होता ज्यादा


फतेहपुर।भिटौरा विकास खंड के ग्राम पंचायत तारापुर के पास उपकृषि निदेशक राममिलन सिंह परिहार के निर्देशानुसार नमामि गंगे परियोजनान्तर्गत कृषि विभाग की सर्विस प्रोवाइडर ईश एग्रिटेक प्रा.लि.इंदौर,मध्य प्रदेश द्वारा कृषि गोष्ठी आयोजित हुई।शुभारंभ फीता काटकर मुख्य अतिथि अमित तिवारी ने किया।उन्होंने कहा जैविक विधि द्वारा खेती करने से उत्पादन की लागत तो कम होती ही है इसके साथ ही कृषक भाइयों को आय अधिक प्राप्त होती है तथा अंतराष्ट्रीय बाजार की स्पर्धा में जैविक उत्पाद अधिक खरे उतरते हैं। जिसके फलस्वरूप सामान्य उत्पादन की अपेक्षा में कृषक भाई अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं।पशु वैज्ञानिक डा.संजय कुमार पांडेय ने कहा पशुधन के बिना प्राकृतिक खेती संभव नही है।कृषि वैज्ञानिक डा.शिवमंगल सिंह,गौआधारित कृषक रामकांत तिवारी,प्रगतिशील किसान वीरेंद्र यादव ने भी जानकारी दी।कृषि गोष्ठी की अध्यक्षता नोडल अधिकारी निहाल कुरैशी ने व सफल संचालन आलोक गौड़ ने किया।इस मौके पर योजना प्रभारी रवि कुमार,मृदा परीक्षण अधिकारी प्रेमदान,ईश एग्रीटेक के प्रोजेक्ट क्वार्डिनेटर जितेंद्र सिंह,अनिल मिश्रा,रामेंद्र पटेल,विपुल तिवारी,अरविंद यादव आदि रहे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
यूपीएससी में हुआ किसान के बेटे का चयन,किया गांव का नाम रोशन
चित्र
डॉ0 भीमराव आंबेडकर राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय फतेहपुर के 34वें वार्षिक कीड़ा समारोह के उद्घाटन दिवस पर प्रतियोगिताएं हुई संपन्न
चित्र
नरेंद्र हत्याकांड में पिता पुत्र को पुलिस ने किया गिरफ्तार
चित्र
कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए विभाकर शास्त्री का हुआ जोरदार स्वागत .
चित्र
खनन माफिया सक्रिय, एनजीटी के नियमों को ताक पर रखकर हो रहा मौरंग का अवैध खनन
चित्र