दूध उत्पादक कृषकों से कंपनी ने दूध लेना किया बन्द पेमेंट रोका

 दूध उत्पादक कृषकों से कंपनी ने दूध लेना किया बन्द पेमेंट रोका



फतेहपुर। पशु पालन कर अपना जीवन यापन कर परिवार चलाने वाले पशु कृषकों ने कलेक्ट्रेट परिसर पहुचकर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भेजा है।पशु कृषकों ने कहा कि हम लोग गाय और भैस का दूध डेयरी के माध्यम से बेचने का काम करते है।लेकिन सामर्थ्य मिल्क प्रोड्यूसर कम्पनी ने मार्केट में दूध कम कीमत पर मिलने पर हम लोगो से दूध लेना बंद कर दिया।

जिले के असोथर ब्लाक के रहने वाले दिनेश सिंह ने कलेक्ट्रेट परिसर पहुचकर जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देते हुए कहा कि दूध उत्पादन कर क्षेत्र के पशु कृषक आमदनी कमा रहे थे।मेरी पत्नी के नाम असोथर एम पी आई के नाम से कोड जारी कर डेयरी खोली गई।विगत 9 साल से गाय की डेयरी होने से गौवंश में वृद्धि हुई।डेयरी के माध्यम से पशु पालक अपने गाय का दूध बेचने का काम करते हैं।सामर्थ्य मिल्क प्रोड्यूसर कम्पनी हमसे दूध लेती है।

कम्पनी ने 20 दिन से दूध लेना बंद कर और कृषकों का पैसा भी नही दे रही।जिस कारण से करीब 2 सौ पशुओं का चारा पानी की समस्या उत्पन्न हो गई है। प्रोपराइटर एवम किसान दिनेश सिंह ने आज जिलाधिकारी की चौखट में पहुंच कर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन प्रेषित करते हुए मांग किया कि हमारे दूध का पूरा रेट दिया जाए और कंपनी द्वारा रोका गया पिछला भुगतान कराया जाए।

टिप्पणियाँ
Popular posts
वर्षा/ ओलावृष्टि के कारण भेडो में मची भगदड़ के चलते 167 भेडो की मौत जबकि 16 भेडे घायल
चित्र
यूपीएससी में हुआ किसान के बेटे का चयन,किया गांव का नाम रोशन
चित्र
पत्नी द्वारा लगाए गए आरोप को पति ने बताया मनगढ़ंत कहानी
चित्र
व्यापारी के साथ हुई मारपीट कांड की डीसीपी ने की जांच पडताल
चित्र
पत्नी के नाम खरीदी प्रॉपर्टी पर परिवार का भी हक, मकान-जमीन रजिस्ट्री कराने से पहले जान लें HC का फैसला
चित्र