समाजसेविका कांग्रेस नेत्री श्रीदेवी का दावा अगर गठबंधन ने प्रत्याशी बनाया तो साध्वी को दे देंगी मातबिदकी फतेहपुर।पिछले लगभग 34 वर्षों से समाज सेवा से जुडी श्री देवी किसी परिचय की मोहताज नही है। समाज सेवा के साथ भारतीय राजनीति में भी उनकी सक्रियता शनैः शनैः बढती रही।वर्तमान में कांग्रेस पार्टी की कद्दावर नेत्री है और उनका मानना है कि यदि इंडिया गठबंधन उन्हें फतेहपुर विधानसभा से प्रत्याशी बनाता है तो भाजपा प्रत्याशी साध्वी निरंजन ज्योति को टक्कर ही नही देंगी वल्कि उन्हें जनपद से भागना पडेगा। किसी भी हालत में वह लोकसभा नही पहुँच पाएगी , यह दावा कांग्रेस नेत्री श्री देवी का है। समाज सेविका श्रीदेवी सन् 1991 से 2002 तक महाराष्ट्र डोम्बीवली मेयर चुनाव में नगर सेविका रही। 2003 से 2013 तक महाराष्ट्र थाना सोसाइटी की अध्यक्ष रही। इसी बीच 2008 में श्रीदेवी महिला मंडल का शुभारंभ किया। इस दौरान हर गांव का गहनता से सर्वे किया और वहाँ की आम‌ जनसमस्याओं के साथ हरित क्रांति के तहत वृहद वृक्षारोपण का कार्य श्रीदेवी महिला मंडल की महिला सदस्यों के सहयोग से किया। महिला व बाल उत्पीड़न को लेकर आंदोलनरत रही। समाज सेवा के दौरान श्रीदेवी महिला मंडल की राष्ट्रीय अध्यक्ष के दौरान प्रेरणा संगठन की उपाध्यक्ष, ब्राम्हण समाज सेवा संघ की सचिव समग्र समाज सेवा मोर्चा उत्तर प्रदेश, चौकीदार यूनियन उत्तर प्रदेश की अध्यक्ष रह कर समाज सेवा को नए आयाम दिए। अपने पैतृक जनपद फतेहपुर में आकर गाँव गाँव का सघन सर्वे किया और अपने संगठन में एक लाख से अधिक सदस्यों को जोडा। वर्ष 2009 में कानपुर जनपद की ग्राम पंचायत कोरिया से प्रधान का चुनाव लडकर राजनीति का शुभारंभ किया। 2012 में जहानाबाद विधानसभा सभा का निर्दलीय प्रत्याशी के रुप मे चुनाव लड कर फतेहपुर जनपद में श्रीदेवी ने अपने नाम का प्रचार प्रसार किया। वर्ष 2016 में बिंदकी विधानसभा, 2014 व 2019 में फतेहपुर लोकसभा चुनाव में अपनी प्रत्याशिता दर्ज कराई और गांव गांव में सघन दौरा कर महिला शक्ति का मतदाताओं के बीच लोहा मनवाया। हालांकि पिछले 2019 में इंडियन नेशनल कांग्रेस ज्वाइन किया और कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में उन्हें चुनाव लड़ने की हरी झंडी भी दे दी गई और वह चुनाव प्रचार में जुट गई। ऐन वक्त पर सपा से कांग्रेस आए पू्र्व सांसद ने उनका टिकट कटवा‌ दिया। जिससे श्रीदेवी को उनके समर्थकों की जिद पर निर्दलीय लोकसभा सभा चुनाव लडना पड़ा। जिस पूर्व सपा सांसद को कांग्रेस ने टिकट‌ दिया वही मौकापरस्त निकला और कांग्रेस का दामन छोडकर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम कर कानपुर देहात से भाजपा का विधायक विधायक बन कैबिनेट मंत्री बन गया। कांग्रेस नेत्री श्रीदेवी का दावा है कि यदि उसे इंडिया गठबंधन ने अपना प्रत्याशी बनाया तो‌ निश्चित रूप से भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को धूल चटा देगी।
समाजसेविका कांग्रेस नेत्री श्रीदेवी का दावा अगर गठबंधन ने प्रत्याशी बनाया तो साध्वी को दे देंगी मात

बिदकी फतेहपुर।पिछले लगभग 34 वर्षों से समाज सेवा से जुडी श्री देवी किसी परिचय की मोहताज नही है। समाज सेवा के साथ भारतीय राजनीति में भी उनकी सक्रियता शनैः शनैः बढती रही।वर्तमान में कांग्रेस पार्टी की कद्दावर नेत्री है और उनका मानना है कि यदि इंडिया गठबंधन उन्हें फतेहपुर विधानसभा से प्रत्याशी बनाता है तो भाजपा प्रत्याशी साध्वी निरंजन ज्योति को टक्कर ही नही देंगी वल्कि उन्हें जनपद से भागना पडेगा। किसी भी हालत में वह लोकसभा नही पहुँच पाएगी , यह दावा कांग्रेस नेत्री श्री देवी का है। 
समाज सेविका श्रीदेवी सन् 1991 से 2002 तक महाराष्ट्र डोम्बीवली मेयर चुनाव में नगर सेविका रही। 2003 से 2013 तक महाराष्ट्र थाना सोसाइटी की अध्यक्ष रही। इसी बीच 2008 में श्रीदेवी महिला मंडल का शुभारंभ किया। इस दौरान हर गांव का गहनता से सर्वे किया और वहाँ की आम‌ जनसमस्याओं के साथ हरित क्रांति के तहत वृहद वृक्षारोपण का कार्य श्रीदेवी महिला मंडल की महिला सदस्यों के सहयोग से किया। महिला व बाल उत्पीड़न को लेकर आंदोलनरत रही। समाज सेवा के दौरान श्रीदेवी महिला मंडल की राष्ट्रीय अध्यक्ष के दौरान प्रेरणा संगठन की उपाध्यक्ष, ब्राम्हण समाज सेवा संघ की सचिव समग्र समाज सेवा मोर्चा उत्तर प्रदेश, चौकीदार यूनियन उत्तर प्रदेश की अध्यक्ष रह कर समाज सेवा को नए आयाम दिए। अपने पैतृक जनपद फतेहपुर में आकर गाँव गाँव का सघन सर्वे किया और अपने संगठन में एक लाख से अधिक सदस्यों को जोडा। वर्ष 2009 में कानपुर जनपद की ग्राम पंचायत कोरिया से प्रधान का चुनाव लडकर राजनीति का शुभारंभ किया। 2012 में जहानाबाद विधानसभा सभा का निर्दलीय प्रत्याशी के रुप मे चुनाव लड कर फतेहपुर जनपद में श्रीदेवी ने अपने नाम का प्रचार प्रसार किया। वर्ष  2016 में बिंदकी विधानसभा, 2014 व 2019 में फतेहपुर लोकसभा चुनाव में अपनी प्रत्याशिता दर्ज कराई और गांव गांव में सघन दौरा कर महिला शक्ति का मतदाताओं के बीच लोहा मनवाया। हालांकि पिछले 2019 में इंडियन नेशनल कांग्रेस ज्वाइन किया और कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में उन्हें चुनाव लड़ने की हरी झंडी भी दे दी गई और वह चुनाव प्रचार में जुट गई। ऐन वक्त पर सपा से कांग्रेस आए पू्र्व सांसद ने उनका टिकट कटवा‌ दिया। जिससे श्रीदेवी को उनके समर्थकों की जिद पर निर्दलीय लोकसभा सभा चुनाव लडना पड़ा। जिस पूर्व सपा सांसद को कांग्रेस ने टिकट‌ दिया वही मौकापरस्त निकला और कांग्रेस का दामन छोडकर भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम कर कानपुर देहात से भाजपा का विधायक विधायक बन कैबिनेट मंत्री बन गया। 
कांग्रेस नेत्री श्रीदेवी का दावा है कि यदि उसे इंडिया गठबंधन ने अपना प्रत्याशी बनाया तो‌ निश्चित रूप से भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को धूल चटा देगी।
टिप्पणियाँ
Popular posts
बडौरी टोल प्लाजा में अधिवक्ता के साथ हुई लूट के साथ गुंडई करते हुए जान से मारने की धमकी दी
चित्र
रोड को लेकर अब तक जनपद में कई जगहों पर हुआ सांसद का विरोध
चित्र
सरकार बनने पर बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाया जाएगा - मायावती
चित्र
भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष 49 लोकसभा प्रत्याशी दीदी साध्वी निरंजन ज्योति के पक्ष में वोट करने की किया अपील
चित्र
पीएम मोदी बोले- कांग्रेस-सपा चारों खाने चित्त हो गई है: कांग्रेस ने इज्जत बचाने के लिए मिशन-50 सीट रखा
चित्र