आईजीएल के बिजनेस हेड एवं यूपीडीए के अध्यक्ष प्रदेश में गुणवतापूर्ण मक्के की उत्पादकता एवं किसानों की आय बढ़ाने हेतु दृढसंकल्पित न्यूज़।आईजीएल के बिजनेस हेड एस के शुक्ल भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकार के बायो ईंधन के मिशन को पूर्ण करने हेतु अग्रसर है। इसी क्रम में एस के शुक्ल के नेतृव में समय समय पर किसान संगोष्ठी का आयोजन कराया जाता है और पूर्वांचल के दो जनपदों में ग्रीष्म ऋतु में भी मक्के की बुवाई कराई गई है।जहा इस मक्के से एथेनाल उत्पादन में वृद्धि होगी वही किसानों को भी अच्छी आय होगी जिससे उनके जीवन स्तर में सुधार होगा।इसके पूर्व में एस के शुक्ल द्वारा कई सामाजिक क्षेत्रों में अभूतपूर्व सहयोग दिया जा रहा है, तथा कुछ क्षेत्रों में तो सदैव इनका नाम स्मरण रखा जाएगा जैसे, शिक्षा,स्वच्छता,स्वास्थ्य, पर्यावरण संरक्षण,तथा रोजगार के क्षेत्र में इनके नेतृत्व में पूरे पूर्वांचल में अविस्मरणीय कार्य कराए गए है। इसी क्रम में कुछ दिनों पूर्व पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में फैक्ट्री के टेट्रा पैक के कचरे से निर्मित दो टेबल को आम जनमानस हेतु गोरखपुर रेलवे बोर्ड को प्रदान किया। इसके साथ ही एस के शुक्ल के नेतृत्व में महिलाओं को आत्मनिर्भर और शसक्त बनाने में भी कार्य लगातार किया जा रहा है। बिजनेस हेड एस के शुक्ल इसी पूर्वांचल की माटी से है और उनका एक लक्ष्य है की पूर्वांचल औद्योगिक नगरी बने और यहां के किसान, नौजवान, महिलाएं सब आत्मनिर्भर हो और इसी दिशा में एस के शुक्ल सरकार के साथ मिलकर क्षेत्र का कायाकल्प कर रहे है। आज क्षेत्र में स्थापित प्रत्येक इकाइयों को आईजीएल से सीख लेते हुए क्षेत्र के विकास में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करानी चाहिए। एस के शुक्ल बिना भेदभाव के कार्य करते है और समाज के प्रत्येक तबके के लोगो को एक समान नजर देखते है और उनके दुखों को दूर करने का प्रयास करते है। आज जहा पूर्वांचल में किसान ग्रीष्म ऋतु में मक्के की खेती की कल्पना नहीं कर सकते थे वही एस के शुक्ल के मार्गदर्शन में किसान मक्के की बुवाई कर रहे है और यह लहलहाती हुई फसल कह रही है को वह दिन दूर नही जब पूर्वांचल का किसान यहां का भाग्य विधाता बनेगा । एस के शुक्ल के इस प्रयास और मेहनत को इतिहास में सदैव स्मरण किया जाएगा और इसे समृद्धता का आंदोलन कहा जायेगा। जिसमें सभी को समृद्ध होने और आगे आने का सामान अवसर दिया जाएगा।इस कार्य में एस के शुक्ल के नेतृव में एम बी इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट फाउंडेशन,ट्रस्ट के संस्थापक अमिताभ पांडे लगातार किसान संपर्क अभियान चला रहे है और किसानों को मक्के की खेती हेतु प्रोत्साहित कर रहे है।

 आईजीएल के बिजनेस हेड एवं यूपीडीए के अध्यक्ष प्रदेश में गुणवतापूर्ण मक्के की उत्पादकता एवं किसानों की आय बढ़ाने हेतु दृढसंकल्पित 


न्यूज़।आईजीएल के बिजनेस हेड एस के शुक्ल भारत सरकार  एवं उत्तर प्रदेश सरकार के बायो ईंधन के मिशन को पूर्ण करने हेतु अग्रसर है। इसी क्रम में एस के शुक्ल के नेतृव में समय समय पर किसान संगोष्ठी का आयोजन कराया जाता है और पूर्वांचल के दो जनपदों में ग्रीष्म ऋतु में भी मक्के की बुवाई कराई गई है।जहा इस मक्के से एथेनाल उत्पादन में वृद्धि होगी वही किसानों को भी अच्छी आय होगी जिससे उनके जीवन स्तर में सुधार होगा।इसके पूर्व में एस के शुक्ल द्वारा कई सामाजिक क्षेत्रों में अभूतपूर्व सहयोग दिया जा रहा है, तथा कुछ क्षेत्रों में तो सदैव इनका नाम स्मरण रखा जाएगा जैसे, शिक्षा,स्वच्छता,स्वास्थ्य, पर्यावरण संरक्षण,तथा रोजगार के क्षेत्र में इनके नेतृत्व में पूरे पूर्वांचल में अविस्मरणीय कार्य कराए गए है। इसी क्रम में कुछ दिनों पूर्व पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में फैक्ट्री के टेट्रा पैक के कचरे से निर्मित दो टेबल को आम जनमानस हेतु गोरखपुर रेलवे बोर्ड को प्रदान किया। इसके साथ ही एस के शुक्ल के नेतृत्व में महिलाओं को आत्मनिर्भर और शसक्त बनाने में भी कार्य लगातार किया जा रहा है। बिजनेस हेड एस के शुक्ल इसी पूर्वांचल की माटी से है और उनका एक लक्ष्य है की पूर्वांचल औद्योगिक नगरी बने और यहां के किसान, नौजवान, महिलाएं सब आत्मनिर्भर हो और इसी दिशा में एस के शुक्ल सरकार के साथ मिलकर क्षेत्र का कायाकल्प कर रहे है। आज क्षेत्र में स्थापित प्रत्येक इकाइयों को आईजीएल से सीख लेते हुए क्षेत्र के विकास में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करानी चाहिए। एस के शुक्ल बिना भेदभाव के कार्य करते है और समाज के प्रत्येक तबके के लोगो को एक समान नजर देखते है और उनके दुखों को दूर करने का प्रयास करते है। आज जहा पूर्वांचल में किसान ग्रीष्म ऋतु में मक्के की खेती की कल्पना नहीं कर सकते थे वही एस के शुक्ल के मार्गदर्शन में किसान मक्के की बुवाई कर रहे है और यह लहलहाती हुई फसल कह रही है को वह दिन दूर नही जब पूर्वांचल का किसान यहां का भाग्य विधाता बनेगा । एस के शुक्ल के इस प्रयास और मेहनत को इतिहास में सदैव स्मरण किया जाएगा और इसे समृद्धता का आंदोलन कहा जायेगा। जिसमें सभी को समृद्ध होने और आगे आने का सामान अवसर दिया जाएगा।इस कार्य में एस के शुक्ल के नेतृव में एम बी इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट फाउंडेशन,ट्रस्ट के संस्थापक अमिताभ पांडे लगातार किसान संपर्क अभियान चला रहे है और किसानों को मक्के की खेती हेतु प्रोत्साहित कर रहे है।


टिप्पणियाँ
Popular posts
बडौरी टोल प्लाजा में अधिवक्ता के साथ हुई लूट के साथ गुंडई करते हुए जान से मारने की धमकी दी
चित्र
रोड को लेकर अब तक जनपद में कई जगहों पर हुआ सांसद का विरोध
चित्र
सरकार बनने पर बुंदेलखंड को अलग राज्य बनाया जाएगा - मायावती
चित्र
भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष 49 लोकसभा प्रत्याशी दीदी साध्वी निरंजन ज्योति के पक्ष में वोट करने की किया अपील
चित्र
पीएम मोदी बोले- कांग्रेस-सपा चारों खाने चित्त हो गई है: कांग्रेस ने इज्जत बचाने के लिए मिशन-50 सीट रखा
चित्र