चक्रवाती तूफान से निपटने और तैयारियों को लेकर केंद्र ने राज्यों के साथ की समीक्षा बैठक, अभी से किया अलर्ट

नई दिल्ली,। चक्रवाती तूफान दक्षिण पश्चिम अरब सागर में पश्चिम की ओर से तेजी से बढ़ रहा है। यह चक्रवाती तूफान 24 घंटे के अंदर तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी के तटीय क्षेत्रों से टकराने वाला है। तूफान से निपटने को लेकर केंद्र और राज्य सरकारें पूरी तरह से अलर्ट हैं। केंद्रीय कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने सोमवार को आंध्र प्रदेश के मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चक्रवाती तूफान से निपटने की तैयारियों और स्थिति की समीक्षा की। राजीव गौबा ने राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (NCMC) की बैठक की अध्यक्षता की जिसमें तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी के शीर्ष अधिकारी जुड़े।











कैबिनेट सचिवालय ने बताया कि आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुंडुचेरी के मुख्य सचिवों ने राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (NCMC) को अपनी तैयारियों के बारे में जानकारी दी और उल्लेख किया कि किसी भी घटना को लेकर अधिकारी पूरी तरह से तैयार हैं। उन्होंने इस चुनौती को पूरा करने के लिए एनडीआरएफ और अन्य एजेंसियों के साथ समन्वय की भी जानकारी दी।


24 से 26 नवंबर के बीच आएगा चक्रवाती तूफान


भारतीय मौसम विभाग (IMD) के महानिदेशक ने तूफान के मौजूदा वर्तमान स्थिति की जानकारी दी। इसके साथ ही संबंधित राज्य सरकारों के साथ स्थिति साझा की है। उन्होंने उल्लेख किया कि चक्रवाती तूफान 24 से 26 नवंबर के बीच आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटीय क्षेत्रों को प्रभावित करने वाला है।