उत्तर प्रदेश में अब बच्चों,गर्भवती व धात्री महिलाओं को मिलेगा दूध और घी

उत्तर प्रदेश में अब बच्चों,गर्भवती व धात्री महिलाओं को मिलेगा दूध और घी


(न्यूज़)।उत्तर प्रदेश में अब बच्चों, गर्भवती और धात्री महिलाओं को स्वस्थ रखने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा पौष्टिक खानपान की व्यवस्था की जा रही है। जिसके तहत उन्हें हर महीने गेहूं, चावल, दाल, घी और दूध का वितरण किया जाएगा। स्वयं सहायता समूह के माध्यम से होने वाले वितरण की देखरेख आंगनबाड़ी कार्यकत्री करेंगी। वितरण के लिए स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को ब्लॉक मुख्यालयों पर प्रशक्षिण दिया जा रहा है।बच्चों गर्भवती और धात्री महिलाओं के साथ ही किशोरियों में होने वाले कुपोषण को रोकने व उन्हें सुपोषित करने के लिए सरकार ने योजना तैयार की है। योजना के तहत 6 माह से लेकर 6 वर्ष तक के बच्चों के साथ ही गर्भवती महिलाओं, धात्री महिलाओं और स्कूल से बाहर 11 से 14 वर्ष की किशोरियों को अनाज, घी व दूध दिया जाएगा।योजना के तहत 6 माह से 3 वर्ष के बच्चों को एक किलो चावल, डेढ़ किलो गेहूं, 750 ग्राम दाल, 450 ग्राम देसी घी व 400 ग्राम स्कम्डि मल्कि पाउडर दिया जाएगा। 3 से 6 वर्ष के बच्चों को एक किलो चावल, डेढ़ किलो गेहूं व 400 ग्राम दूध दिया जाएगा। गंभीर रूप से कुपोषित 6 माह से 6 वर्ष तक के बच्चों को डेढ़ किलो चावल, ढाई किलो गेहूं, 500 ग्राम दाल, 900 ग्राम देसी घी, 750 ग्राम मल्कि पाउडर मिलेगा। वही गर्भवती व धात्री महिलाओं तथा स्कूल से बाहर 11 से 14 वर्ष की किशोरियों को एक किलो चावल, 2 किलो गेहूं, 750 ग्राम दाल, 450 ग्राम घी व 750 ग्राम दूध दिया जाएगा। गेहूं, चावल और दाल जहां प्रतिमाह के हिसाब से मिलेगा, वही देसी घी व दूध पाउडर तिमाही दिया जाएगा।


Popular posts
क्षेत्रीय भाजपा विधायक करन सिंह पटेल का प्रतिनिधि विपिन पटेल भाजपा की छवि कर रहा है धूमिल।
इमेज
उत्तर प्रदेश में होने जा रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के आरक्षण सूची जारी की जा रही है फाइनल सूची 15 मार्च को
इमेज
जिला मुख्यालय पर कल जारी होगी पंचायत चुनावों के आरक्षित/अनारक्षित सीटों की सूची
इमेज
और जब राज्य मंत्री ने पेट्रोल पंप में बाइक में भरा तेल
इमेज
घर से चूहे, छिपकली और मक्खी भगाने के घरेलू नुस्खे, एक बार जरूर ट्राई करें
इमेज