कोरोना काल के बाद भी ऐतिहासिक मेले में उमड़ी सैकड़ों की भीड़

 कोरोना काल के बाद भी ऐतिहासिक मेले में उमड़ी सैकड़ों की भीड़



कारागार मंत्री के द्वारा कंबल वितरण व सरकारी विभागों के कैंप लगवाकर मेले का किया गया शुभारंभ


पुरानी परंपराओं के तहत शुरू हुआ कस्बे का सैकड़ों साल पुराना वार्षिक मेला


अमौली(फतेहपुर)जनपद क्षेत्र के अमौली कस्बे में लगने वाला वार्षिक ऐतिहासिक मेले का आयोजन बुधवार से शुरू हो गया है। मेला का आयोजन पिछले वर्षों की भांति इस साल बहुत ही अलग तरीके से शुरू हुआ है। पंद्रह दिवसीय मेले को लेकर कई सप्ताह पहले से तैयारियां शुरू हो गई थी। मेला को सुंदर बनाने के लिए मेला कमेटी व कस्बे के बड़े व्यापारियों के द्वारा कस्बे में लाइट आदि की व्यवस्था कर ली गई थी। जिसमें इस साल पूरे कस्बे में मुख्य मार्गों पर कमेटी व ग्राम पंचायत के द्वारा तिरंगा के समान प्रकाश फैलाने वाली लाइटों को लगवाया गया।

मेला को लेकर क्षेत्रीय लोगों में यह भय था कोरोना काल की वजह से इस वर्ष कस्बे का मेला नहीं लगेगा। अमौली कस्बे में लगने वाला मेला सैकड़ों साल पहले से लगातार हर साल पौष माह की पूर्णिमा के दिन से पंद्रह दिनों के लिए शुरू हो जाता है। जिसमें शीत ऋतु में उपयोग होने वाली वस्तुओं के साथ सभी प्रकार की वस्तुएं बिकती है। जिससे क्षेत्रीय लोगों में उत्साह रहता है कि इस मेले में ज्यादा से ज्यादा खरीददारी करेंगे। इसी को लेकर क्षेत्रीय लोगों में यह भय था कि इस बार मेला का आयोजन नहीं होगा लेकिन क्षेत्र के युवा विधायक व राज्य सरकार के कारागार मंत्री जय कुमार जैकी ने ध्यानाकर्षितकर मेले में कुछ ऐसा करने की सोची कि इस बार मेले में चार चांद लग जाए।

कारागार मंत्री जयकुमार जैकी के प्रयासों से कार्यकर्ताओं द्वारा मेले में आए हुए लोगों के लिए निशुल्क भोजन व चाय की व्यवस्था की गई साथ ही क्षेत्रीय लोगों को सरकारी योजनाओं से जोड़ने के लिए सभी विभागों के द्वारा शिविर लगाकर लोगों को जानकारियां भी बाटी गईं।

अमौली कस्बे में लगने वाले ऐतिहासिक वार्षिक मेले का शुभारंभ बुधवार के दिन कारागार मंत्री जयकुमार जैकी की अध्यक्षता में दीप प्रज्वलित कर शुरू किया गया। मेले के आयोजन को लेकर कार्यक्रम का संचालन उमेश त्रिवेदी के द्वारा सभी मुख्य अतिथियों व अधिकारियों को सम्मान देकर किया गया साथ ही क्षेत्र में विकास कार्यों में कुशल सहयोग करने वाले जनप्रतिनिधियों को प्रशस्ति पत्र व गरीबों को गर्म कंबल भेंट किए गए। कंबल पाकर लोगों के चेहरे खिल उठे। वही लगने वाले मेले में पारंपरिक तरीके से रावण वध, श्री राम लक्ष्मण,देवी देवताओं आदि की झांकियां निकालकर मेले को नई गति प्रदान की गई। जिसको देखने के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ मेले में इकट्ठा हुई। मेले में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए क्षेत्रीय पुलिस बल कस्बे के चप्पे-चप्पे पर सक्रिय रहा।

इस मौके पर चंद्रिका प्रसाद त्रिवेदी, सत्यम त्रिवेदी, रजत सिंह, उमेश त्रिवेदी, अवधेश, जगत, पवन ठाकुर, महेश वर्मा, कैलाश नारायण शर्मा, सुरेश सिंह प्रधान, रवि द्विवेदी, सुशीला सिंह, अनुपमा ओमर, वर्षा देवी, मोना, एसडीएम प्रियंका, तहसीलदार गणेश व समस्त अधिकारीगण एवं विभागीय कर्मचारी मौजूद रहे।

Popular posts
नर्सिंग होम में चिकित्सक की लापरवाही से बालक की मौत को लेकर हुआ हंगामा, संचालक गिरफ्तार
इमेज
बकाया विद्युत बिल जमा ना होने पर काटे जाएंगे कनेक्शन--- एक्सईएन विद्युत विभाग
इमेज
शनिवार से लगेगा कोरोना का टीका, इन लोगों से होगी शुरुआत
इमेज
जिलाधिकारी ने बांदा टांडा बाईपास नउवाबाग राधा नगर एवं गाजीपुर विजयीपुर मार्ग का किया निरीक्षण
इमेज
पड़ोसी ने किया पांच वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार
इमेज