गोली लगने से मौत का शिकार हुए युवक का शव आया तो मचा हड़कंप

 गोली लगने से मौत का शिकार हुए युवक का शव आया तो मचा हड़कंप


----- भारी संख्या में पुलिस व प्रशासन रहा मौजूद

----- गिरफ्तार आरोपी पिता-पुत्र के खिलाफ की गई कानूनी कार्रवाई

----- करीब डेढ़ घंटे तक परिजन ग्रामीण रोके रहे शव

बिंदकी फतेहपुर

1 दिन पहले वर्चस्व की लड़ाई को लेकर चली गोली के चलते मौत के शिकार हुए किशोर का शव गांव आया तो हड़कंप मच गया परिजन रो-रोकर बेहाल हो रहे थे पुलिस और प्रशासन शव को अंतिम संस्कार के लिए परिजनों के साथ भेजना चाह रहा था लेकिन करीब डेढ़ घंटे तक शव नहीं जाने दिया गया परिजन रिश्तेदारी हूं तथा व्यापारियों को आने की बात कह कर समय डालते रहे हालांकि पुलिस प्रशासन के काफी कहने के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए भेज दिया गया परिजन भी साथ में गए पुलिस ने आरोपी पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई की है जबकि अभी एक आरोपी की तलाश है पुलिस ने वर्चस्व को लेकर विवाद करने वाले दोनों पक्षों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की है

         बताते चलें कि जाफर गंज थाना क्षेत्र के देवरी गांव में 1 दिन पहले वर्चस्व की लड़ाई तथा ट्रैक्टर चालकों के साथ पिटाई करने के मामले में मामूली विवाद के बाद विवाद गहराता गया पुलिस भी मौके पर पहुंची थी लेकिन तभी सभाजीत सिंह निवासी अर्गल थाना जाफरगंज ने अपने घर की छत से फायरिंग कर दी थी जिसके चलते अभिषेक उम्र 16 वर्ष पुत्र कुल्ला अरख की मौके पर दर्दनाक मौत हो गई थी जबकि एक युवक नरेंद्र कुमार उम्र 34 वर्ष के पैर में गोली लगी थी हालांकि पुलिस और प्रशासन आनन-फानन में किशोर को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची थी जहां पर चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया था घटना के दूसरे दिन किशोर का शव पोस्टमार्टम के बाद देवरी गांव पहुंचा तो हड़कंप मच गया परिजन रो-रोकर बेहाल हो रहे थे मौके पर एडीएम लालता प्रसाद साह एएसपी राजेश कुमार एसडीएम प्रियंका पुलिस क्षेत्राधिकारी योगेंद्र सिंह मलिक सहित 10 थानों का फोर्स तथा अन्य पुलिस बल मौजूद रहा पुलिस और प्रशासन चाहता था कि किशोर के शव को देखने के बाद परिजन अंतिम संस्कार के लिए राजी हो जाए लेकिन करीब डेढ़ घंटे तक रिश्तेदारों तथा बीमारियों के आने की बात कहकर परिजन अंतिम संस्कार की बात टालते रहे लेकिन बाद में परिजन मान गए और शव को अंतिम संस्कार के लिए भेज दिया गया इस घटना के बाद पुलिस ने कानूनी कार्रवाई की है एक और आरोपी सभाजीत सिंह तथा उसके पुत्र विवेक को गिरफ्तार कर कानूनी कार्रवाई की है वहीं पुलिस सभाजीत के दूसरे आरोपी पुत्र दीपक की तलाश कर रही है पुलिस ने इस मामले में सभाजीत सिंह तथा उनके पुत्रों के खिलाफ धारा 107 147 148 149 332 504 506 336 के तहत वहीं दूसरी ओर विवाद को बढ़ाने तथा झगड़ा करने के आरोप में अंशु शुक्ला अंकित संजय राजू लकी सुरेंद्र कुमार प्रताप सहित कई ज्ञात तथा कई अज्ञात के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की है इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी और जो आरोपी अभी फरार है उनकी भी जल्दी से गिरफ्तारी की जाएगी