धूम्रपान के साथ ई-सिगरेट का सेवन हो सकता है खतरनाक, स्ट्रेस के पांच बायोमार्कर का किया विश्लेषण

 धूम्रपान के साथ ई-सिगरेट का सेवन हो सकता है खतरनाक, स्ट्रेस के पांच बायोमार्कर का किया विश्लेषण



(न्यूज़)।अगर आप धूम्रपान छोड़ने के लिए ई-सिगरेट अपनाने के बारे में सोच रहे हैं तो संभल जाएं। हालिया शोध में यह पता चला है कि स्मोकिंग पूरी तरह छोड़ने के बाद ई-सिगरेट से भले ही कुछ लाभ हो, लेकिन अगर पारंपरिक सिगरेट के साथ ई-सिगरेट का सेवन भी किया गया तो यह ज्यादा खतरनाक हो सकता है।अमेरिका की बोस्टन यूनिवर्सिटी स्कूल के असिस्टेंट प्रोफेसर एंड्रयू सी स्टोक्स ने कहा,'कुछ लोग पारंपरिक सिगरेट की लत कम करने के लिए ई-सिगरेट का इस्तेमाल करने लगते हैं। ऐसे में वे अक्सर ही सिगरेट छोड़ने की जगह दोनों का सेवन करने लगते हैं।उन्होंने कहा,अगर ई-सिगरेट के जरिये धूम्रपान छोड़ने का प्रयास किया जाता है तो सबसे पहले सिगरेट से पूरी तरह छुटकारा पाना चाहिए। इसके बाद लोगों को सभी तरह के तंबाकू उत्पादों से आजादी पाने की सलाह दी जानी चाहिए।अमेरिकी हार्ट एसोसिएशन पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार,पारंपरिक सिगरेट के साथ ई-सिगरेट का सेवन करने वाले प्रतिभागियों में सभी इंफ्लेमेटोरी और ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस बायोमार्कर उसी तरह पाए गए,जिस तरह सिर्फ सिगरेट का इस्तेमाल करने वाले लोगों में पाए पाए।