चार दिन बाद छटा कोहरा धुप निकलने से खिले चेहरे

 चार दिन बाद छटा कोहरा धुप निकलने से खिले चेहरे



शाम ढलते ही फिर बढ़ गया सर्दी का प्रकोप

नगर पालिका परिषद द्वारा जलाए गए अलाव सेलोगों ने राहत की सांस ली


तहसील प्रशासन ने अभी तक नहीं बाटे गरीबों को कंबल

गिरिराज शुक्ला


बिंदकी फतेहपुर

4 दिन बाद  मंगलवार को आसमान से गिरा छठा और धूप निकली धूप निकलने से जहां लोगों ने राहत की सांस ली वहीं शाम ढलते ही सर्दी का प्रकोप फिर बढ़ गया अचानक पड़ेगी सा सर्दी से हर वर्ग परेशान दिख रहा है सबसे अधिक परेशानी गरीब तबके के लोगों को हो रही है कि सर सर्दी पड़ने के बावजूद अभी तक तहसील प्रशासन ने गरीबों के लिए कमँर की वितरण नहीं किया पिछले 3 दिनों से सूर्य देव के दर्शन ना होने से और बर्फीली हवाएं चलने से बड़ी सर्दी से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया था रात के समय घना कोहरा हाय रहने से वाहनों की रफ्तार जांच थम जा रही थी वही दुर्घटनाओं की आशंका से लोग भयभीत दिखते थे पूरा होने के कारण लगातार वाहन टकराने की सूचनाएं मिल रही थी अचानक शुरू हुई भीषण सर्दी से सबसे ज्यादा परेशान बेघर गरीब असहाय लोगों बिहारी मजदूरों रिक्शा चालकों के साथ बेजुबान पक्षियों को हो रही थी साधन संपन्न लोग तो इस सर्दी का लुफ्त उठा रहे हैं लेकिन जिन गरीबों के पास मामूली सर्दी बचाने के लायक भी कपड़े नहीं है वह हल वादियों की भर्ती के हुआ चाय की दुकानों के आसपास खड़े होकर सर्दी से बचने की कोशिश करते नजर आ रहे हैं वहीं नगर पालिका प्रशासन द्वारा जो अलाव जलाए गए उससे लोगों को राहत महसूस हुई परंतु शाम ढलते ही सर्दी का प्रकोप बढ़ गया जिससे गरीब मजदूरों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है