जिले में महिला सीएमएस डा रेखारानी को लगा

 जिले में महिला सीएमएस डा रेखारानी को लगा

कोरोना का पहला टीका

शुभारंभ

ऽ प्रतिरक्षित लोगों को 15 फरवरी को दी जाएगी दूसरी डोज



फतेहपुर। जिले में जिला महिला चिकित्सालय की मुख्य चिकित्साधीक्षक डा0 रेखारानी को कोरोना का पहला टीका लगने के साथ ही शनिवार को कोविड  19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई है। प्रतिरक्षित लोगों को कोविड 19 टीका की अगली डोज के लिए 15 फरवरी की तारीख दी गई है। इसके लिए उनके मोबाइल पर मैसेज भी आएगा। टीका लगने के बाद महिला सीएमएस डा रेखारानी ने बताया कि कोरोना से बचाव का यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है। टीका लगने के बाद किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होती है। सभी को यह टीका लगवाना चाहिये। उन्होंने कहा कि टीकाकरण को लेकर किसी भी भ्रांति में न पडें। शासन के दिशा निर्देश के अनुसार सभी को टीका लगाया जायेगा।

जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे ने बताया कि कोरोना वायरस कि अब उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। विश्व में तबाही मचाने वाले कोविड-19 वायरस जैसी विकराल समस्या का अब समाधान निकल चुका है। जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के कुल चार अस्पतालों में भी जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की निगरानी में टीके को लांच किया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में अब तक 86345 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। 3756 मरीज पॉजिटिव आए हैं। अब तक 3306 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 36 एक्टिव केस हैं।मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ गोपाल कुमार माहेश्वरी ने बताया कि जनपद में कोरोना को मात देने के लिए वैक्सीन की 11860 डोज जिले को प्राप्त हो चुकी हैं। शनिवार को लांचिंग के लिए जिला, ब्लॉक एवं सत्र स्तर पर नोडल अधिकारियों और पर्यवेक्षकों को नामित किया गया था। इसके पहले जिले में दो बार ड्राई रन यानी पूर्वाभ्यास भी किया जा चुका है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि भारत में विकसित कोरोना वैक्सीन पूरी तरह प्रभावी है। कोल्ड चेन के मानकों को पूर्ण करते हुये यह वैक्सीन जिले में आई है। अत्याधुनिक तकनीक से हम कोल्ड चेन बनाए हुये हैं।

सीएमओ ने बताया कि पहले डोज के बाद दूसरा डोज 28वें दिन लगेगा। टीका लगने के बाद आधे घंटे तक टीकाकरण केंद्र पर रुकना होगा। प्रतिरक्षित व्यक्ति को यदि बेचैनी या किसी भी तरह की समस्या होती है तो निकटतम स्वास्थ्य अधिकारियों, एएनएम और आशा को इसकी सूचना दें। इसके लिए एंबुलेंस सेवा 108 भी उपलब्ध रहेगी। प्रतिरक्षित व्यक्ति भी कोरोना अनुरूप व्यवहारों जैसे मास्क पहनना, हाथ की सफाई और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाये रखने का पालन करें।

उन्होंने बताया कि उच्च जोखिम वाले समूहों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया है। इन्हें तीन समूहों में बांटा गया है- पहले समूह में हेल्थकेयर वर्कर, दूसरे समूह में फ्रंटलाइन वर्कर, तीसरे समूह में 50 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति तथा जो पहले से ही किसी रोग से ग्रसित हैं।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ के के श्रीवास्तव ने बताया कि कोई व्यक्ति बिना पंजीकरण के कोरोना वैक्सीन नहीं प्राप्त कर सकता है । कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण के बाद ही सत्र स्थल और समय की जानकारी दी जायेगी । फोटो आईडी पंजीकरण और सत्यापन दोनों के लिए जरूरी है। ऑनलाइन पंजीकरण के बाद लाभार्थी को वैक्सीनेशन की नियत तिथि, स्थान और समय के बारे में मोबाइल पर एसएमएएस प्राप्त होगा।  कोरोना वैक्सीन की उचित खुराक मिलने पर लाभार्थी को उनके मोबाइल नंबर पर एक क्यूआर कोड आधारित प्रमाण पत्र भी भेजा जायेगा।


अनुपस्थित की बनेगी सूची

शनिवार को शुरू हुये कोविड 19 टीकाकरण अभियान के दिन कई ऐसे लोग भी रहे जिनका नाम कोविड पोर्टल पर पंजीकृत था लेकिन वह टीकाकरण के समय नहीं आए। अनुपस्थित लोगों की अब एक अलग सूची तैयार होगी। इन लोगों को टीकाकरण के लिए अलग से समय दिया जाएगा।


सत्यापन के लिए आवश्यक


अगर आप कोविड दृ 19 टीकाकरण के लिए जा रहे हैं तो अपना एक पहचान पत्र ले आना न भूलें। इसमें आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आइडी एवं  पैन कार्ड, पासपोर्ट, जॉब कार्ड, पेंशन दस्तावेज, मनरेगा कार्ड , स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, सांसदों, विधायकों, एमएलसी को जारी आधिकारिक प्रमाण पत्र, बैंक, पोस्ट ऑफिस की पासबुक, केंद्र, राज्य सरकार या पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा जारी सेवा आईडी कार्ड आदि में कोई एक हो सकता है।


इनको लगेगा पहले टीकारू

हर सेंटर पर एक दिन में केवल 100 लोगों को ही टीका लगेगाद्य वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर प्राथमिकता वाले समूहों का चयन किया गया हैकृजिन्हे अधिक जोखिम होने की वजह से वैक्सीन पहले लगाई जा रही हैद्य पहले समूह में स्वास्थ्य कर्मी एवं फरोंटलीने वर्कर्स शामिल हैद्य दूसरे समूह में 50 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति और 50 वर्ष से काम आयु के गंभीर रोगों से ग्रसित व्यक्ति शामिल हैद्य

पहले चरण में 30 करोड़ लोगों को टीका लगेगाद्य उसके बाद बाकी लोगों को को-विन एप में रजिस्टर होकर टीका लगवाना होगाद्य को-विन एप अभी केवल पहले चरण वाले लोगों का पंजीकरण कर रहा हैद्य सभी स्वास्थ्य कर्मियों को टीका निशुल्क लगेगाद्य  

कोविड -19 की वैक्सीन लगवाना स्वैच्छिक हैद्य लेकिन इस बीमारी से बचाव और यह बीमारी परिवार के सदस्यों, दोस्तों, रिश्तेदारों और सहकर्मियों सहित करीबी लोगों को न हो, इसके लिए यह टीका लगवाना चाहिएद्य यह टीका 28 दिन के अंतराल के बाद दोबारा लगेगा और दूसरे टीके के 14 दिन बाद ऐन्टीबाडी बनना शुरू होंगे जो वायरस से सुरक्षा प्रदान करेंगेंद्य

टीकाकरण को लेकर मंत्रालय ने अपील करते हुए कहा है दूसरे चरण में होने वाले कोविड टीकाकरण का  करने वाले लोगों को अपनी बारी का इंतजार धैर्य से करना है. कोविड 19 टीकाकरण को लेकर किसी भी फर्जी व नकली प्रमोशन या मार्कटिंग आदि देखकृसुनकर गुमराह न  हों. कोविड वैक्सिीन सरकार द्वारा ही उपलब्ध कराया जा रहा है. खुले बाजार में यह उपलब्ध नहीं है इसलिए अपनी बारी आने तक धैर्य से  इंतजार करें.  

टीका है सुरक्षितरू

स्वास्थ्य विभाग ने स्पष्ट किया है जिन चयनित लाभार्थी को टीकाकरण के लिए कोविशील्ड दिया जायेगा उन्हें दूसरे डोज में कोविशील्ड वैक्सिीन ही दी जायेगी. वहीं यदि किसी चयनित लाभार्थी को कोवैक्सिीन दिया गया है तो उसे कोवैक्सिीन का ही दूसरा डोज दिया जाएगाद्य  

कोविशील्ड के प्रत्येक वाइल में 10 डोज है. यानी इसके एक वाइल से 10 लोगों को टीकाकृत किया जा सकेगा. जबकि कोवैक्सिीन वाइल में 20 डोज हैं. टीकाकरण को लेकर सभी प्रकार की सावधानी बरतने की हिदायत दी गयी है.  

मंत्रालय द्वारा यह आश्वस्त किया गया है कि कोविड टीकाकरण पूरी तरह सुरक्षित और असरदार है. टीके जल्द बनाए गए लेकिन पूरे नियमों का पालन किया गया ताकि यह सुरक्षित होद्य

ऐसी स्थिति में न लें टीकारू

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है जिन लोगों की दवा या किसी प्रकार के खाने की ऐलर्जी है वह यह टीका न लगवाएद्य घरभवती, धात्री या ऐसी महिलायें जिन्हे गर्भवती होने की संभावना लग रही है उनको भी यह टीका नहीं लगवाया चाहिएद्य यह टीका 18 वर्ष से काम की उम्र के बच्चों के लिए भी नहीं हैद्य

कुछ स्तिथियों में टीका 4 से 8 हफ्ते बाद लगेगाद्य ऐसे व्यक्ति जिनमें कोरोना के लक्षण पाए गए हैन या जो कोरोना पाजिटिव पाए गए है, ऐसे कोविद पाजिटिव व्यक्ति जिन्हे एंटी-सारस-कोव-2 मानोक्लोनल अंटीबॉडीस (डवदवबसवदंस ।दजपइवकपमे) या कान्वलेसन्ट प्लाज्मा (ब्वदअंसमेबमदज चसंेउं) दिया गया हो या वर्तमान में अस्वस्थ व्यक्ति या अस्पताल में भर्ती व्यक्तिद्य

ऐसे व्यक्ति जिनके शरीर में काभी रक्तस्राव या खून के जमने जैसे परेशानी आई है उन्हे विशेष सावधानियों के साथ कोविड -19 का टीका लगाया जाएगाद्य    

कोविड टीकाकरण में शामिल हैं आठ प्रक्रियाएंरू

कोविड टीकाकरण कार्य को आसान और सुलभ बनाने के लिए आठ प्रक्रियाओं को शामिल किया गया है. लाभार्थी द्वारा उचित फोटो आइडी के साथ कोविन सिस्टम में पंजीकरण करवाना टीकाकरण का पहला चरण है. दूसरे चरण में पंजीकरण के बाद लाभार्थी को अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएमस से आवश्यक सूचना प्राप्त होगी। . पहला एसएमएस पंजीकरण की पुष्टि के लिए होगा. दूसरा एसएमएस टीकाकरण की तिथि, समय और स्थान बताने व तीसरा एसएमएस पहला टीका लगने के बाद भेजा जायेगा जिसमें दूसरे टीके की निर्धारित तिथि होगी. इसके बाद मिलने वाले एसएमएस में दूसरा टीका लगने के बाद डिजिटल सर्टिफिकेट के लिए लिंक के साथ भेजा जायेगा. तीसरे और चैथे चरण में क्रमशरू टीकाकरण स्थल के प्रवेश द्वारा पर लाभार्थी का पंजीकरण संदेश और फोटो आइडी की जांच होगी और कोविन सिस्टम से दस्तावेजों को प्रमाणित किया जायेगा. पांचवे चरण में टीकाकरण अधिकारी लाभार्थियों को टीका लगायेंगे. छठे चरण में टीका लगने के बाद निर्धारित क्षेत्र में लाभार्थी को 30 मिनट तक निगरानी के लिए रूकना होगा. इसके बाद यह सुनिश्चित किया जायेगा कि लाभार्थी 30 मिनट प्रतीक्षा करें और साथ ही गैर पंजीकृत लाभार्थियों का मार्गदर्शन करेंगे. आठवें और अंतिम चरण में दूसरा टीका लगवाने के लिए एसएमएस के अनुसार दी तारीख पर लाभार्थी टीकाकरण स्थल पहुंचेंगे. दूसरे डोज के समय यदि लाभार्थी बीमार पाये जाते हैं तो टीकाकरण के लिए उनके स्वस्थ  होने तक इंतजार किया जाएगाद्य .    

टीकाकरण के बाद भी इन नियमों का पालन जरूरीरू

ऽ मास्क का इस्तेमाल

ऽ नियमित साबुन पानी से हाथ धोना

ऽ हैंड सेनिटाइजर का इस्तेमाल

ऽ 6 फीट की शारीरिक दूरी रखने का पालन

 ऽ कोविड के लक्षण दिखने पर सेल्फ आइसोलेशन

 ऽ कोविड के लक्षण होने की आशंका पर जांच

Popular posts
रेलवे ने दी गुड न्‍यूज, 15 अक्‍टूबर से चलेंगी 200 से ज्‍यादा नई स्‍पेशल ट्रेनें
चित्र
छोटे बच्चों को गांजा पिलाकर बर्बाद करने में उतारू संत
चित्र
पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने अंतोदय के सिद्धांत पर पूरे जीवन कार्य किया---- बीजेपी युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष
चित्र
*26 जुलाई कारगिल विजय दिवस पर शहीदों को किया गया याद*
चित्र
उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव: एक-एक गांव के आरक्षण चार्ट के लिए अभी करना होगा इंतजार,पहले अफसरों को मिलेगी ट्रेनिंग
चित्र