ओवर लोड वाहनों पर आखिर कार कब होगी कार्यवाही

 ओवर लोड वाहनों पर आखिर कार कब होगी कार्यवाही



सड़कों के बुरे हाल के साथ ही उड़ती धूल से कस्बे वासियों का जीना दुश्वार


फतेहपुर। जिले के असोथर थाना क्षेत्र के रामनगर कौहन खंड एक में पिछले वर्ष 31 दिसंबर से बालू का खनन महादेव कान्क्लेव प्राइवेट लिमिटेड द्वारा संचालित किया जा रहा है जिसमें कृषि कार्य के लिए रजिस्टर्ड ट्रैक्टरों द्वारा बड़े बड़े ट्राला बनवाकर ओवर लोड बालू लेकर कस्बे के मुख्य मार्ग से फ़र्राटा भरते हुए रात्रि दिन आवागमन किया जा रहा है जिसमें कि इतनी धूल उड़ती है सड़क के किनारे रहने वाले परिवारों का जीना दुश्वार हो गया वहीं कस्बे के बस स्टाप से प्रताप नगर झाल तिराहे तक पिछले एक साल पहले डस्ट मिली गिट्टियां डलवाई गयी थी जिसमें कि जब ओवर लोड वाहन फर्राटा भरकर निकलते हैं तब इतनी डस्ट उड़ती है पैदल व बाईक सवारों का बुरा हाल हो जाता है कभी कभी तो बाईक सवार ज्यादा धूल उड़ने के कारण चुटहिल भी हो जाता है।आखिर कार ओवर लोड वाहनों के आवागमन में जिले के आलाधिकारियों द्वारा क्यूं नहीं की जा रही कार्यवाही यह एक बड़ा सवाल है। नवागंतुक जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे द्वारा ओवर लोडिंग के खिलाफ कार्रवाई के अभियान की शुरूआत कब की जायेगी क्यूं कि ए आर टी ओ द्वारा मोरम की ओवर लोड वाहनों के खिलाफ कार्रवाई न करना संदेह के घेरे में है।

खनन क्षेत्र में घाट संचालक के एक दर्जन गनरो द्वारा फैलाई जा रही दहसत वहीं बीती रात्रि 12 बजे से रवन्ना के रेट में इजाफा होने के कारण गुरूवार की शाम 7 बजे वाहन चालकों द्वारा रवन्ना काटने वाले आपरेटर से कहासुनी होने लगी इतना सुनते ही दर्जनों गनरो द्वारा सभी वाहन चालकों को डरा धमकाकर काउंटर से बाहर भगा दिया गया।

बड़ा सवाल पुलिस प्रशासन से क्या जितने गनर मोरम घाटों में तैनात हैं उनके पहचान व असलहों का सत्यापन पुलिस के द्वारा किया गया है।

खनन संचालक द्वारा रखे गए गनरो में एक गनर ने बताया कि हमारे ठेकेदार की पहुंच मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री,तक है हमारे घाट में किसी विभाग का कोई अधिकारी नहीं आ सकता है क्यूंकि हमारे मालिक की पहुंच बहुत ऊपर तक है अब इससे यही साबित होता कि घाट संचालक का सिस्टम इतना बड़ा है कि योगी जी और मोदी जी का कानून भी इनके कारनामों पर कोई कार्रवाई करने से डर रहे हैं।