हिंसा मामले में किसान नेताओं के खिलाफ FIR, क्राइम ब्रांच करेगी जाँच

 हिंसा मामले में किसान नेताओं के खिलाफ FIR, क्राइम ब्रांच करेगी जाँच



न्यूज़।दिल्‍ली की सड़कों पर गणतंत्र दिवस के मौके पर हुई हिंसा की हर ओर आलोचना हो रही है। किसान ट्रैक्‍टर रैली के दौरान हुए उपद्रव में दिल्‍ली पुलिस को भी निशाना बनाया गया।वहीं दिल्‍ली पुलिस ने इस हिंसा को लेकर जांच तेज कर दी है।सेंट्रल दिल्ली में हुई हिंसा में गैंगस्टर व एक्टिविस्ट लख सदाना की भूमिका की जांच की जा रही है।मिली जानकारी के मुताबिक योगेंद्र यादव सहित कई नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज किए गए हैं। इन पर पुलिस के साथ हुए NOC के करार की अवहेलना का आरोप लगा है।दिल्ली पुलिस ने कल शहर में किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में 200 लोगों को हिरासत में लिया।दिल्ली पुलिस ने कहा कि जल्द ही उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।प्रदर्शनकारी किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा की जांच के लिए एक शीर्ष अदालत के सेवानिवृत्त जज की अध्यक्षता में एक आयोग गठित करने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट में आज एक याचिका दायर की गई। याचिका में 26 जनवरी को राष्ट्रीय ध्वज के अपमान और हिंसा के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों या संगठनों के खिलाफ प्रासंगिक दंड प्रावधानों के तहत एफआईआर दर्ज करने के लिए संबंधित प्राधिकरण को निर्देश देने की भी मांग की गई है। किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान कल दिल्ली में लाल किले पर हुई हिंसा के संबंध में FIR दर्ज की गई है। मामले की जांच क्राइम ब्रांच करेगी।