शांतिदूत रूपम मिश्रा बैठे सांकेतिक अनशन में नशा मुक्त भारत बनाने की एक नई पहल कि की गयी शुरुआत।

 शांतिदूत रूपम मिश्रा बैठे सांकेतिक अनशन में नशा मुक्त भारत बनाने की एक नई पहल कि की गयी शुरुआत।


जिला संवाददाता,


फतेहपुरधार्मिक स्थलो व सरकारी संस्थानो,शिक्षा के मंदिरो मे नशे की दुकाने हटाई जाये।दुर्व्यसन से होने वाले नुकसान से लोगो को जागरुक किया जाये।नशे के विरुद्ध जंग छेड़ने वाले शांतीदूत रूपम मिश्रा रविवार को शहर के सदर अस्पताल के सामने तिरंगे झंडे क नीचे सांकेतिक अनशन मे बैठ गये।उन्होने कहा जिले के सभी विद्यालयो,सरकारी संस्थानो,धार्मिक स्थलो के पास से गुटखा,तम्बाकू,शराब,भाग आदि कि दुकाने हटाई जाये।नशा व्यक्ति को बर्बाद कर देता है।शांतीदूत रूपम मिश्रा ने उपस्थित लोगो से आहवान किया की नशे के विरुद्ध चलाये जाने वाले अभियान मे सहभाग करे।नशे के खिलाफ आवाज अपने घर से बुलंद करे।नशे मे लिप्त व्यक्ति समाज मे हेय दृष्टि से देखा जाता है और उसका विवेक मर जाता है।युवा वर्ग नशे मे लिप्त होकर दुर्घटना का शिकार हो रहा है।नशा व्यक्ति को अपराधी बना देता है।आचार्य रामनारायण ने कहा नशे के विरुद्ध लोगो को जागरूक करने के लिये वह घर घर जायेगे और नशा छोडने की अपील करेगे।

इस मौके पर संजय गुप्ता, आचार्य रामनारायण, अजय पांडे, मोहम्मद आसिफ चिश्ती ,ज्ञानेंद्र मिश्रा ,जितेंद्र सविता, अरविंद मौर्या ,शाहिद हुसैन  शाहरुख ,दानिश सिद्दीकी आदिल जावेद सैफ सिद्दीकी अतुल मौर्य चेयरमैन प्रतिनिधि हाजी रजा फैजान अली कंचन मिश्रा आलोक गौड, महेंद्र कनवार, फैजान , धर्मेंद्र सिंह, योगेश पाण्डेय आदि सैकड़ों लोग एकत्रित रहे।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र