मास्क से पैदा होने वाली नमी करती है खतरे को कम

 मास्क से पैदा होने वाली नमी करती है खतरे को कम



न्यूज़।एक नए अध्ययन के मुताबिक नाक की बर्फी स्मार्ट लोगों को कोरोनावायरस से बचाता है बल्कि मास्क पहनने से बनने वाली मामी सांस की नली को हाइड्रेट भी करती है और सिस्टम को फायदा पहुंचाती है। यह शोध बायोफिजिकल अनल में प्रकाशित हुआ है। अमेरिका स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ डायबिटीज एंड डाइजेस्टिव एंड किडनी डिजीज से ताल्लुक रखने वाले और शोध के प्रमुख लेखक एड्रियाना बैक्स ने कहा,' हमने पाया कि फेस मास्क सांस लेने वाली हवा में नमी को बढ़ाता है। इससे इस बात की पुष्टि होती है कि अगर सांस लेने वाले रास्ते में नमी बढ़ती है तो कोरोनावायरस का खतरा कम हो जाता है।' बैक्स ने कहा कि नवमी का उच्च स्तर फ्लू की गंभीरता को कम करता है और यही नियम कोर्णाक की गंभीरता पर भी लागू हो सकता है। विज्ञानियों ने कहा कि नवमी का उच्च स्तर म्यूकोसिकल क्लीयरेंस को बढ़ावा देकर फेफड़ों में वायरस को फैलने को रोकता है। बता दें कि एमसीसी ना केवल फेफड़े को बलगम से बचाता है बल्कि ब्हानिकारक कणों से भी इस की रक्षा करता है।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र