महाराजा भगवंतराय खीची की मूर्ति का हुआ अनावरण, इतिहास ने बढ़ाया क़दम

 महाराजा भगवंतराय खीची की मूर्ति का हुआ अनावरण, इतिहास ने बढ़ाया क़दम



  फतेहपुर। जनपद के बहुआ ब्लाक अन्तर्गत ग्राम मुंडचौरा मूसे नगर हथेमा में महाराजा भगवंतराय खीची की मूर्ति का अनावरण दिल्ली विश्वविद्यालय  के सेवानिवृत्त विषय विशेषज्ञ प्रो. डा. महेन्द्र प्रताप सिंह व राजा असोथर विशेंद्र पाल सिंह ने संयुक्त रूप से किया। इस मौक़े पर दोनों महानुभावों द्वारा मंत्रोच्चारण के बीच विधिवत पूजा अर्चना भी की।

    बताते चलें कि जनपद के यमुना तटवर्ती मुंडचौरा मूसे नगर हथेमा का सदियों पुराना इतिहास रहा है। यह वहीं स्थान है जहां पर मुगलों को उन्होंने नाको चने चबुवाया था और बाद में धोखे से जिस स्थान पर उनकी हत्या कर दी गई थी, उस ऐतिहासिक विरासत को सहेजने की दिशा में जिम्मेदारों द्वारा सकारात्मक प्रयास न किए जाने से यह ऐतिहासिक स्थल इस क़दर उपेक्षित हैं कि यहां पहुंचने का मार्ग अत्यंत जर्जर है। महाराजा के शहीद स्थल की दैविक आन भी बताई जाती है। यहां पर बड़ी संख्या में लोग आस्था के साथ आते हैं। बगल में स्थित कुएं का भी अपना विशेष इतिहास रहा है।

      दिल्ली विश्वविद्यालय के वयोवृद्ध सेवानिवृत्त विषय विशेषज्ञ प्रो. डा. महेन्द्र प्रताप सिंह जो खीची परिवार के सदस्य भी हैं, उन्होंने महाराजा से जुड़े इतिहास को न सिर्फ़ लिपिबद्ध किया बल्कि उनके शहीद स्थल पर आकर्षक चौरा का निर्माण कराकर महाराजा भगवंतराय की मूर्ति स्थापित करवाया है। जिसका आज विस्तारित अनावरण कार्यक्रम संपन्न हुआ। इस मौक़े पर काफ़ी देर तक जयघोष हुआ तथा अन्य दो मिनट का मौन रखकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई।

  समारोह में इस जनपद के साथ साथ अन्य जनपदो से भी बड़ी संख्या में लोग पहुंचे।

Popular posts
सदर सीट से प्रमोद द्विवेदी को चुनाव लड़ा सकती हैं भाजपा
चित्र
केशव मौर्या के भाजपा से प्रत्यासी घोषित होते ही समर्थकों ने दागे पटाखे,बांटी मिठाई
चित्र
मकरस्क्रान्ति त्यौहार के शुभ अवसर पर किशनपुर में लगा ऐतिहासिक मेला
चित्र
दारा सिंह चौहान के इस्तीफे से क्या पड़ सकता है सियासत पर बड़ा फर्क
चित्र
कोर्रा कनक किशोरी हत्याकांड में ललौली पुलिस ने किया खुलासा सगा भाई ही निकला हत्यारा।
चित्र