जनपद में खाद की किल्लत किसानों को मांग के अनुरूप नहीं उपलब्ध हो पा रही खाद

 जनपद में खाद की किल्लत किसानों को मांग के अनुरूप नहीं उपलब्ध हो पा रही खाद



संवाददाता बाँदा।सरकार के बड़े बड़े दावे फेल नजर आ रहे हैं इस समय किसान खाद के लिए परेशान है एक दूसरे से धक्का-मुक्की करने के बावजूद भी किसानों को उचित मात्रा में खाद नहीं उपलब्ध हो पा रही है आपको बता दें जिले की गल्ला मंडी समिति परिसर में खाद केंद्र में भारी भीड़।कई घंटो की कड़ी मशक्कत के बाद भी खाद मिलने की कोई गारंटी नहीं है।बांदा जिला प्रशासन वा प्रदेश सरकार लगातार कह रही है की खाद की कोई कमी नहीं है।

खाद की कमी न होने पर खाद पाने के लिए किसान अपने सारे काम काज छोड़कर एक दो बोरी खाद की आस में दिनभर लाइन में लगे रहने के बाद भी निराश होकर लोट जाने को मजबूर है।

इस संबंध मे जब वहा मौजूद कर्मचारी से बात की गई तो उसके द्वारा बताया गया की सभी सहकारी समिति के कर्मचारी अपनी मांगो के चलते हड़ताल पर हैं।इसी कारण आधे खाद केंद्र बंद होने की वजह से भिड़ बढ़ गई हैं।अगर सभी केन्द्र में खाद मिलती रहे तो इतनी भीड़ न होगी।वजह चाहे जो हो आखिर परेशान तो अन्न दाता ही हो रहा है।अब देखने वाली बात यह है कि कितने दिनों मे खाद की किल्लत खत्म होगी।