आसमान से बरसी आफत ने बढ़ाई अन्नदाता की चिंता

 आसमान से बरसी आफत ने बढ़ाई अन्नदाता की चिंता



जनपद में पिछले 4 दिनों से लगातार जारी है बारिश एवं ओलावृष्टि


संवाददाता बाँदा - जनपद में पिछले 4 दिनों से लगातार हो रही बारिश एवं ओलावृष्टि से किसान परेशान किसानों को उम्मीद थी इस साल अच्छी फसल होगी लेकिन कुदरत के कहर ने मानव सब बर्बाद करने की कसम खा ली है पिछले 4 दिन से लगातार बारिश हो रही है साथ में कहीं कहीं ओलावृष्टि भी हो रही है जिस से फसलें खराब होने की पूरी आशंका है।  बेमौसम बारिश का दौर जारी है।कई गांवों में  तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि ने किसानों की परेशानियों को बढ़ा दिया है।आसमान से बरसी आफत से अन्नदाता मुश्किल में आ गया।भारी ओलावृष्टि होने से खेतों में खड़ी सरसो,मसूर,मटर,गेंहू,चना आदि फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान का अनुमान है।खप्टिहा कलाँ के किसान चुन्नू यादव ने बताया कि ओले गिरने से खेतों में खड़ी सभी फसलों का भारी मात्रा में नुकसान हुआ है।गुगोली के किसान शुभम ने बताया कि बीती रात को 50-100 ग्राम तक के वजन वाले ओले गिरे हुए हैं जो भारी ठंड के कारण खेतों में घण्टों तक पड़े रहे है।वही प्रकति की मार से मायूस हुए अन्नदाताओं को अब शासन व प्रशासन से सर्वे मुआवजे की आस हैं।बता दें कि लगातार बारिश और ओलावृष्टि ने ठंड भी बढ़ा दी है,वही लगातार पारा नीचे गिरने और धूप नही निकलने से फसलों पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है वही आमजन जीवन भी प्रभावित हुआ है।अलोना के किसान देवकुमार ने बताया कि रात को ओले छतों पर गिरने की आवाजें सुनकर ऐसा लग रहा था कि बड़े-बड़े पत्थर फेंके जा रहे हों। ये आवाज सुनकर सभी सहम गए। रातभर बारिश का दौर जारी रहा और सब लोग घरों में ही दुबके रहे।गलियों पर भी ओले पड़े थे और जब सुबह खेतों में जाकर अपनी फसलों को देखा तो वहाँ पर भी पड़े थे।