प्राइमरी के सबमर्सिबल से प्यास बुझ रहे लोग

 प्राइमरी के सबमर्सिबल से प्यास बुझ रहे लोग 



फतेहपुर।पेयजल समूह योजना के दोनों पंप खराब पड़े होने के कारण कस्बे में पेयजल संकट गहराता जा रहा है। हालात ये है कि लोग प्राइमरी स्कूल में लगे सबमर्सिबल पंप से पानी लेकर अपना काम चला रहे हैं। जल निगम ने इन पंपों को ठीक कराने का प्रयास नहीं शुरू किया है।धाता पेयजल समूह योजना के दो पंप के माध्यम से पेयजल आपूर्ति होती है। इसमें से एक पंप ब्लाक के पास और दूसरा ओवर हेड टैंक के पास लगा है। ओवर हेड टैंक के पास लगे पंप की मोटर एक साल पहले फुंक गई थी। इसके बाद से यह बंद पड़ा है।दूसरे पंप से किसी तरह जलापूर्ति हो रही थी लेकिन कुछ दिन पहले इसकी मोटर भी फुंक गई। इसके बाद जलापूर्ति व्यवस्था पूरी तरह से ठप हो गई।

पानी नहीं मिलने से सुबह से शाम तक घर की महिलाएं पानी का इंतजाम करने में भटक रही है। जिन घराें के पास सबमर्सिबल पंप लगे है, तो वह उनके घर से पानी मांगकर अपना काम चला रहे हैं। कुछ हैंडपंप से काम चल रहे हैं और कुछ लोग कस्बे में बने प्राइमरी स्कूल में लगे सबमर्सिबल पर आश्रित हो गए हैं। कस्बे के नंदन लाल, सुरेश गुप्त, यश चौरसिया, रत्नेश सिंह, उत्कर्ष जायसवाल आदि लोग ब्लाक व धाता इंटर कॉलेज से पानी भरते है।प्राथमिक विद्यालय से बाजार व व्यापारी व अनुसूचित जाति की बस्ती में रहने वाले लोग पानी भरते हैं। लोग मौजूदा समय विद्यालय खुलने का इंतजार करते हैं। कस्बे के प्रेम केसरवानी, रोशनलाल गुप्ता, रिजवान अहमद, मुन्ना खां, भानू प्रताप केसरवानी, मोहम्मद जफर ने बताया कि अधिकारी पेयजल संकट के मामले को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं।