पति की मौत के बाद 2 वर्ष की मासूम बेटी के साथ दर- भटक रही महिला ससुराल में नहीं मिल नहीं मिल रहा अधिकार

 पति की मौत के बाद 2 वर्ष की मासूम बेटी के साथ दर- भटक रही महिला ससुराल में नहीं मिल नहीं मिल रहा अधिकार



बाँदा संवाददाता। सरकारों के द्वारा महिला उत्पीड़न रोकने के लिये चाहे जितने कानून बनाये गए हो लेकिन क्या जमीनी स्तर पर  समय से उचित न्याय मिल पाता है। कुछ महिलायें अपना अधिकार पाने के लिए दर-दर भटकती नजर आ जाती है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां पति के मृत्यु के बाद विधवा महिला अपनी लगभग 2 वर्ष की मासूम बेटी के साथ दर दर भटक रही है। ससुराल में पति की संपत्ति में उसको हक नहीं दिया जा रहा है।आपको पता है पूरा मामला बांदा जनपद के विसण्डा थाना अंतर्गत ग्राम बड़ा गांव से सामने आया है जहां पर पूजा पटेल पत्नी स्व० कुलदीप कुमार, निवासी ग्राम-बड़ागांव, ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय बांदा पहुंच कर अपने प्रार्थना पत्र के माध्यम से अवगत कराते हुए बताया कि पति की मौत दिसंबर 2020 में होने के बाद ससुराल पछ से बेटी की परवरिश के लिए दस लाख रुपये का चेक दिया था। जब चेक कैश करने पहुंची तो पता चला की कोई रुपया खाते में न होने से चेक बाउंस हो गया। पीड़िता ने अपने जेठ पर आरोप लगाते हुए बताया कि पति की कार फर्जी साइन कर बेच दी साथ ही मेरे पति के एकाउंट में जमा एक लाख रुपए फोन पे के माध्यम से निकल कर हमे बेसहारा कर दिया गया है।पीड़िता ने प्रार्थना पत्र के जरिए उचित न्याय के साथ अपना हक दिलाए जाने की मांग की है।