विश्व जल दिवस पर ज्योति बाबा का आवाहन...

 विश्व जल दिवस पर ज्योति बाबा का आवाहन... 


हाथ से हाथ मिलाए बारिश की हर बूंद बचाएं..ज्योति बाबा 

जल प्रदूषण के चलते देश के कई हिस्से डार्क जोन में बदले..ज्योति बाबा


दूषित भूजल से रोगमय कल..ज्योति बाबा 


जल प्रदूषण बना महामारी,चारों ओर फैली बीमारी..ज्योति बाबा 


कानपुर। हर साल धरती पर बारिश के रूप में इतना पानी बरस जाता है कि उससे कई पृथ्वी के लोगों की प्यास और जल जरूरतें पूरी की जा सकती हैं लेकिन हमने भूजल का अत्याधिक दोहन तो किया और बदले में धरती की कोख तक पानी ना पहुंचा पाने के चलते देश के कई हिस्से डार्क जोन बन चुके हैं उपरोक्त बात सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में  वी फॉर नेशन,मातृशक्ति युवा हिंदू वाहिनी, आइफा के सहयोग से विश्व जल दिवस के परिप्रेक्ष्य में नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल का के अंतर्गत हाथ से हाथ मिलाए बारिश की हर बूंद बचाएं कार्यक्रम में अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख व आंदोलन के नेशनल ब्रांड एंबेस्डर योग गुरु ज्योति बाबा ने कही,ज्योति बाबा ने आगे कहा कि इस बार विश्व जल दिवस की थीम भूजल को संरक्षित करने की है दुनिया में करीब जितना भी ताजा जल मौजूद है वह भूजल के रूप में है इसी से पीने सिंचाई साफ-सफाई कृषि उद्योग और परिस्थितिकी तंत्र की जरूरतें पूरी होती हैं और आज यही इंसानों के लोभ लालच के कारण धरती की कोख का अनमोल खजाना जल भी प्रदूषित हो चुका है  इसीलिए सभी को मिलकर भूजल सहेजने और उसके चतुराई भरे उपयोग के लिए काम करना होगा ज्योति बाबा ने आगे कहा कि एक व्यक्ति औसतन 20 लीटर पानी खाने-पीने व साफ-सफाई की जरूर के जरूरी कामों के लिए खर्च करता है कुछ विकसित राष्ट्रों में प्रति व्यक्ति पानी की खपत विकासशील राष्ट्रों की तुलना में दस गुना तक है वी फॉर नेशन के दिनेश शुक्ला व आईफा के भानु प्रकाश शुक्ला ने कहा कि देश के भूजल संकट को दूर करने के लिए सरकार व समाज दोनों को युद्ध स्तर पर प्रयास करने होंगे प्रसिद्ध मानवाधिकारवादी गीता पाल व मातृशक्ति युवा हिंदू वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष नीतू शर्मा ने कहा कि भूजल को बचाने हेतु सभी धर्मगुरु व श्रेष्ठ जनों को तालाबों को पुनर्जीवन का संदेश दे तो सकारात्मक जनआंदोलन निश्चित खड़ा हो जाएगा, अंत में भूजल संरक्षण की शपथ ज्योति बाबा ने दिलाई। अन्य प्रमुख प्रदेश उपाध्यक्ष अंजु सिंह,अनुराग सिंह, पंकज दीक्षित एडवोकेट, योगाचार्य  सुनील सिंह,जितेंद्र कुमार,अनिल पटेल,दिव्यांशी गौतम इत्यादि थी।