कामदनाथ स्वामी की परिक्रमा कर आशीर्वाद में मांगा राज्य बुंदेलखंड

 कामदनाथ स्वामी की परिक्रमा कर आशीर्वाद में मांगा राज्य बुंदेलखंड



बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ स्वयंसेवकों ने की परिक्रमा


स्वयंसेवकों ने स्वामी कामदनाथ की जय , जय-जय बुंदेलखंड के नारे 


राष्ट्रीय अध्यक्ष ने खंड-खंड अखंड बने राज्य बुंदेलखंड की मांग दोहराई 


 संवाददाता : बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के स्वयंसेवकों ने रविवार को कामदनाथ स्वामी की परिक्रमा करते हुए पृथक बुंदेलखंड राज्य का आशीर्वाद मांगा। समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण पांडेय के साथ कई स्वयंसेवकों ने परिक्रमा की। 

बुंदेलखण्ड राष्ट्र समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण पांडेय ने कहा कि पृथक बुंदेलखंड राज्य के लिए देश के प्रधानमंत्री को स्वयंसेवकों द्वारा 26 बार खून से पत्र लिखकर भेजा जा चुका है। प्रधानमंत्री से बार-बार मांग की जा रही है कि बुंदेलखंड राज्य देकर, बुंदेली अस्मिता की रक्षा करें। बुंदेलखंड को उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश के बंधन से मुक्ति दिलाने में देश के प्रधानमंत्री अपनी भूमिका निभाएं। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी जी ने तीन राज्य बनाएं थे। देश के प्रधानमंत्री जल्दी ही बुंदेलखंड की जनता को अलग राज्य का तोहफा देकर चहुमुखी विकास के मार्ग प्रशस्त करें। इस मौके पर अंकुश कुमार ,आदित्य पाण्डेय विष्णु, रमन, अमित, अचल, अपिन, सचिन, सोमनाथ, आयुष, नितिन, शुभम, अंकित,  अभिषेक, सोनू, शैलेंद्र, अरविन्द, अमन, अनिकेत, शिवम, अक्षय, लवलेश, कपिल कुमार, शुभम सिंह, अजय गुप्ता, पारश कुमार, दीपक गुप्ता, आशीष, छोटू, शक्ति सामन्त, अमित वर्मा, पोंटी, अनुपम आदि स्वयंसेवकों ने परिक्रमा की l