जिला चिकित्सालय में जागरूकता एवं स्वास्थ्य शिविर का हुआ आयोजन

 जिला चिकित्सालय में जागरूकता एवं स्वास्थ्य शिविर का हुआ आयोजन 



रिपोर्ट - श्रीकान्त श्रीवास्तव 


बांदा - विश्व स्वास्थ दिवस के अवसर पर  मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0अनिल कुमार श्रीवास्तव जिला नोडल अधिकारी एनसीडी डॉ0आर0  एन0 प्रसाद व मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ संपूर्णानंद मिश्र ने फीता काटकर किया सुभारम्भ। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 अनिल कुमार श्रीवास्तव ने  विश्व स्वास्थ्य दिवस पर  लोगों को विभिन्न बीमारियों के विषय में जानकारी दिया और बताया कि ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हर स्तर पर प्रयास किया कि दुनिया को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जा सकें। सभी जगह बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं रहें और संक्रमण से बचाव हो सके। इसी तरह लगभग सभी देश बीमारी से मुक्त हों और उन्हें स्वास्थ्य सेवाओं के मामले में किसी प्रकार की कोई कमी न हो, यह सब विश्व स्वास्थ्य दिवस को मनाने का एक महत्वपूर्ण उद्देश्य है।  जिला नोडल अधिकारी डॉ आर0एन0 प्रसाद ने बताया कि 1950 को पहली बार डब्ल्यूएचओ से जुड़े सभी देशों ने विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाया था। उसके बाद जैसे जैसे देश डब्ल्यूएचओ से जुड़ते हुए, वहां हर साल अप्रैल को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वास्थ्य दिवस मनाने की शुरुआत हुई।

         मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ0 संपूर्णानंद मिश्रा  ने बताया कि किसी प्रकार की बीमारी हो उसके लिए जांच सबसे पहले करानी चाहिए इसके उपरांत ही रोग की पहचान के बाद इलाज शुरू करना चाहिए इसलिए हर बीमारी के लिए जागरूकता आवश्यक है। मूल्यांकन अधिकारी नरेंद्र कुमार मिश्रा ने बताया कि एनसीडी के अंतर्गत जिला मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम की इकाई एनपीसीडीसीएस की इकाई  जिला चिकित्सालय में मानसिक रोगियों को , मधुमेह रोगियों को  तथा तंबाकू मुक्त कराने के लिए इकाइयां जिला नोडल अधिकारी डॉआर0 एन0 प्रसाद के दिशा निर्देश पर व मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ संपूर्णानंद मिश्र के देखरेख में कार्य कर रही हैं।

       शिविर बीपी की जांच  में चंद्रेश गुप्ता,अनामिका त्रिपाठी ने, काउंसलिंग रिजवाना हाशमी लवलेश यादव, उमा कुशवाहा ने, तंबाकू मुक्त होने संबंधी जानकारी डॉ0 रामवीर सिंह ने, फिजियो संबंधी जानकारी निशांत मौर्य,  सौरभ   शिवधर यादव ने दीया । जबकि मानसिक रोगियों को मनोरोग चिकित्सक डॉ0 हरदयाल ने  उपचारित किया। शिविर में सहायक अनुपम त्रिपाठी और अशोक कुमार  , अमित कुमार गुप्ता ने पंजीकरण किया।