गेहूं खरीद केंद्र हुसैनगंज में पसरा सन्नाटा, केंद्र प्रभारी के लाख प्रयास के बावजूद भी नहीं आ रहे हैं किसान

 गेहूं खरीद केंद्र हुसैनगंज में पसरा सन्नाटा, केंद्र प्रभारी के लाख प्रयास के बावजूद भी नहीं आ रहे हैं किसान



हुसैनगंज (फतेहपुर)।गेहूं खरीद केंद्र में किसानों के न आने की वजह मार्केट रेट और सरकारी रेट में कोई नहीं अंतर, खुले बाजार में दो हजार रुपए प्रति क्विंटल के ऊपर बिक रहा है गेंहू!

हुसैनगंज कस्बे के छिवलहा रोड स्थित गेहूं खरीद केंद्र में किसानों के न आने से खरीद केंद्र में सन्नाटा छाया हुआ है! इसका प्रमुख कारण यह है कि इस बार सरकार ने गेहूं खरीद के लिए सरकारी रेट ₹2015 प्रति कुंतल रखा है, जबकि बढ़ती महंगाई में गेहूं खुले बाजार में ₹2000 प्रति कुंतल के ऊपर बिक रहा है, यही कारण है कि किसान अपना गेहूं खुले बाजार में व्यापारियों के हाथ बेच रहा है! उसको जरूरत के समय नगद मूल्य मिल जाता है, यही कारण है कि वह खरीद केंद्र नहीं जा रहा है!

हुसैनगंज कस्बे के छिउलहा रोड स्थित गेहूं खरीद केंद्र में हाट शाखा के माध्यम से 1 अप्रैल से गेहूं खरीद के लिए कांटा लगा है लेकिन थोड़ा बहुत गेहूं की तौल हुई है कोई किसान खरीद केंद्र में आने को तैयार नहीं है, केंद्र प्रभारी सुरेश भारती ने बताया कि किसानों को मोबाइल कॉल के जरिए गेहूं लेकर आने के लिए कहा गया लेकिन अभी तक कोई आया नहीं, इसी संबंध में आज हुसैनगंज गेहूं खरीद केंद्र में जिला खाद्य विपणन अधिकारी अविनाश झा ने भिटौरा ब्लाक के समस्त कोटेदारों को बुलाकर एक बैठक की जिसमें गांव में किसानों से संपर्क कर केंद्र में गेहूं उपलब्ध कराने के लिए कहा गया! कोटेदारों से कहा गया कि वह अपने गांव आसपास के किसानों को गेहूं लेकर खरीद केंद्र में आने के लिए प्रेरित करें! आपको बता दें कि प्रदेश सरकार ने गेहूं तौल 1 अप्रैल से चालू कर दिया है जो 15 जून तक गेहूं की खरीद होगी, लेकिन 22 दिन बीत जाने के बाद भी खरीद केंद्र में कुछ ही कुंटल गेहूं की खरीद हो पाई है!केंद्र प्रभारी सुरेश भारती मोबाइल के जरिए क्षेत्र के किसानों को केंद्र में गेहूं लाने के लिए उत्साहित व प्रेरित कर रहे हैं लेकिन किसानो ने ऐसा मुंह मोड़ा कि केंद्र में किसान नहीं आ रहे हैं! सबसे बड़ी समस्या यह है कि किसानों को धन की जरूरत होने पर वह अपना गेहूं खुले बाजार में बेच रहा है जिसे उसको नगद में धन प्राप्त हो जाता है! खुले बाजार में गेहूं ₹2000 प्रति कुंटल से ऊपर बिक रहा है, तो भला ऐसे में किसान खरीद केंद्र क्यों आएगा! ऐसे में गेहूं खरीद केंद्र में सन्नाटा पसरा है किसान नहीं आ रहे हैं।