श्रीकृष्ण सुदामा चरित्र की कथा सुन भक्त हुए भावविभोर

 श्रीकृष्ण सुदामा चरित्र की कथा सुन भक्त हुए भावविभोर

 


बिंदकी फतेहपुर।मलवा विकासखण्ड के ग्राम रेवाड़ी खुर्द में चल रही श्रीमद् भागवत कथा और श्रीराम कथा के सातवें दिन कथा प्रवक्ता कनिष्ठ जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी आत्मानंद सरस्वती महाराज ने सुदामा चरित्र का वर्णन करते हुए कहा कि मित्रता करो, तो भगवान श्रीकृष्ण और सुदामा जैसी करो। सच्चा मित्र वही है, जो अपने मित्र की परेशानी को समझे और बिना बताए ही मदद कर दे। परंतु आजकल स्वार्थ की मित्रता रह गई है। जब तक स्वार्थ सिद्ध नहीं होता है, तब तक मित्रता रहती है। जब स्वार्थ पूरा हो जाता है, मित्रता खत्म हो जाती है।

शंकराचार्य स्वामी ने कहा कि एक सुदामा अपनी पत्नी के कहने पर मित्र कृष्ण से मिलने द्वारकापुरी जाते हैं। जब वह महल के गेट पर पहुंच जाते हैं, तब प्रहरियों से कृष्ण को अपना मित्र बताते है और अंदर जाने की बात कहते हैं। सुदामा की यह बात सुनकर प्रहरी उपहास उड़ाते है और कहते है कि भगवान श्रीकृष्ण का मित्र एक दरिद्र व्यक्ति कैसे हो सकता है। प्रहरियों की बात सुनकर सुदामा अपने मित्र से बिना मिले ही लौटने लगते हैं। तभी एक प्रहरी महल के अंदर जाकर भगवान श्रीकृष्ण को बताता है कि महल के द्वार पर एक सुदामा नाम का दरिद्र व्यक्ति खड़ा है और अपने आप को आपका मित्र बता रहा है। द्वारपाल की बात सुनकर भगवान कृष्ण नंगे पांव ही दौड़े चले आते हैं और अपने मित्र सुदामा को रोककर गले लगा लिया। कथा में मुख्य रूप से जय कुमार सिंह जैकी (विधायक बिंदकी), नरेश कुशवाहा, सरला कुशवाहा, रामसनेही पाण्डेय, प्रशांत पाण्डेय, ज्ञानेंद्र अग्निहोत्री, रमाकांत सैनी, छोटे यादव (प्रधान), अजीत सैनी (भाजपा सोशल मीडिया प्रमुख), रवि मिश्रा (प्रधान), शिव शंकर तिवारी, उमेश, जीतू, राजा,वीरेंद्र कुशवाहा, पप्पू तिवारी, करन सिंह सुमित यादव(प्रधान), रज्जन सोनी, महेंद्र अग्निहोत्री, विक्की तिवारी, पियूष दीक्षित, संदीप सैनी, हर्षित विश्वकर्मा,सहित हजारों की संख्या में भक्त मौजूद रहे।

Popular posts
चेहरे पर मुहासे के दाग होने की वजह से 8 जगहों से टूटा रिश्ता हीनभावना से ग्रसित,युवती ने फांसी लगाकर की आत्महत्या
चित्र
लगभग 5 करोड़ रुपए की अष्टधातु की मूर्ति के साथ एक आरोपी गिरफ्तार
चित्र
एंटी करप्शन टीम ने रिश्वत लेते बाबू को रंगेहाथ पकड़ा, एरियर निकालने के लिए मांगे थे 14 हज़ार रुपये
चित्र
उत्तर प्रदेश में मुफ्त राशन वितरण व्यवस्था में बदलाव, अब राशनकार्ड धारकों को चावल ज्यादा और गेहूं कम मिलेगा
चित्र
अतिक्रमणकारियों पर होगी सख्त कार्रवाई--- एसडीएम बिंदकी
चित्र