दबंग व्यक्ति के चलते एक गरीब परिवार सही से नहीं कर पा रहा है अपना जीवन यापन

 दबंग व्यक्ति के चलते एक गरीब परिवार सही से नहीं कर पा रहा है अपना जीवन यापन



दबंग व्यक्ति के चलते शाह चौकी इंचार्ज भी एक गरीब परिवार पर दिखा रहे हैं अपना पूरा रौब


अपने न्याय की उम्मीद लेकर आज पीड़ित व्यक्ति पहुंचा पुलिस अधीक्षक की चौखट पर


फतेहपुर। सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ भले ही सबका साथ सबका विकास का डंका पीटते हुए नजर आ रहे हो वह चाहे जितना यह कहते हुए नजर आ रहे हो कि किसी भी जनपद में किसी भी व्यक्ति को जबरन परेशान नहीं किया जाएगा विशेषकर किसी गरीब परिवार के व्यक्ति को लेकिन शायद वह यह भूल रहे हैं कि सबसे ज्यादा गरीब मजदूर व्यक्ति को ही परेशान किया जाता है।वह भले ही चाहे जितना यह कह लें कि कोई भी शिकायत अगर प्राप्त होती है तो उस पर सही जांच कर लें की शिकायत सही है या फिर गलत तभी किसी पर कार्यवाही की जानी चाहिए भले ही यूपी के कुछ जनपदों में उनके इस आदेश का पालन हो रहा हो लेकिन यूपी के फतेहपुर जनपद में यह तो बिल्कुल भी देखने को नहीं मिल रहा है। गाजीपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत मलाका गांव के निवासी नरेश पुत्र राम प्रताप पासवान ने पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देते हुए बताया कि पीड़ित का परिवार एक गरीब परिवार है। जिससे गरीबी के चलते पीड़ित अपने परिवार का भरण पोषण करने के लिए दूसरे से कर्ज लेकर सुअर के आठ छोटे छोटे बच्चे पाल रखे है।परंतु गांव के ही रमेश पासवान पुत्र दासू ने शाह चौकी में पीड़ित के खिलाफ एक शिकायती पत्र देते हुए कहा कि सुअर पालने से गंदगी फैलती है और कई तरह की बीमारी भी बढ़ती है। वहीं पीड़ित ने बताया कि वह छोटे छोटे सुअर के बच्चे को अपने घर पर पाल रखा है जिसका वह नियमित साफ सफाई भी करता है। वहीं पीड़ित ने यह भी बताया कि विरोधी रमेश एक दबंग व्यक्ति है जिसके घर पर लगभग 50 सदस्य हैं जिसके कारण वह दबंगई के चलते एक गरीब परिवार को परेशान कर रहा है और पीड़ित के घर छह सदस्य ही हैं।पीड़ित के द्वारा वह वर्तमान ग्राम प्रधान को वोट नहीं दिया था जिसके चलते ग्राम प्रधान भी उस दबंग रमेश का पूरा साथ दे रहा है। वहीं दबंग रमेश के द्वारा शाह चौकी में दिए गए शिकायती पत्र के आधार पर 03/06/2022 को चौकी से दो सिपाही गए जहां पीड़ित को पकड़ कर चौकी ले गए और पीड़ित ने बताया कि चौकी में इंचार्ज के द्वारा उसे दो चार थप्पड़ भी जड़े गए तथा यह कहा कि 15 दिन के अंदर सभी सुअर के बच्चों के बेच देना। वहीं रमेश का भाई अभी तक सुअर पाले था जिससे किसी को कोई परेशानी नहीं हुई किसी को कोई बीमारी नहीं हुई। वहीं मोती लाल पुत्र रामकुमार ने सुअर बाड़े की लगभग 10 बिस्वा जमीन पर कब्जा कर रखा है। वहीं जब पीड़ित ने ग्राम प्रधान से सुअर पालने के लिए जमीन मांगी तो प्रधान के द्वारा यह कह दिया गया कि यह गुंडागर्दी है सुअर पालने के लिए जमीन नहीं दी जाएगी।पीड़ित ने कहा कि उसके द्वारा जो सुअर के बच्चे पाले गए हैं वह अभी बहुत छोटे हैं जिससे अगर वह अभी बेचेगा तो वह अपना कर्ज भी चुकता नहीं कर सकता है।इसलिए पीड़ित ने आज पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती पत्र देते हुए कहा कि उसकी मदद की जाए जिससे वह जो कर्ज में डूबा है उसकी पूर्ति कर सके व क्षति से बच सके।

Popular posts
खेत जा रही देवरानी जेठानी को दबंग परिजनों ने पीटकर किया लहूलुहान
चित्र
ओम घाट में डूबती महिला को पीएसी जवान ने बचाया
चित्र
नगरी निकाय सामान्य निर्वाचन 2022 सहित तैयार कर आने जाने वाली मतदाता सूची के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न
चित्र
आकाशीय बिजली गिरने से पेट्रोल पंप में हुआ भारी नुकसान
चित्र
नवागंतुक मुख्य विकास अधिकारी ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद विकास भवन के कार्यालय में जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय, सहकारिता कार्यालय, आरईएस, जल शक्ति कार्यालय आदि कार्यालयों का किया औचक निरीक्षण
चित्र