जुड़वा बच्चों का एम्बुलेंस कर्मचारियों ने कराया सुरक्षित प्रसव

 जुड़वा बच्चों का एम्बुलेंस कर्मचारियों ने कराया सुरक्षित प्रसव



फतेहपुर: उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से संचालित 108 व 102 एम्बुलेंस सेवा शिखर पर है। जिले के रीजनल मैनेजर और प्रोग्राम मैनेजर नेतृत्व में जनपद की एम्बुलेंस स्वास्थ्य सेवा है। जिसे वो दिन प्रतिदिन सवारने में लगे है। उत्तर प्रदेश सरकार ने एम्बुलेंस संचालन का जिम्मा GVK EMRI को दिया है। जो प्रदेश में एम्बुलेंस का संचालन कर रही है। बीते दिन एम्बुलेंस कर्मचारियों की सहजता और कार्य प्रसंसनीय रहे है। आप को बताते चले की हरदो सामुदायिक केन्द्र में कार्यरत 108 एम्बुलेंस पे बहरामपुर की प्रसुता महिला सीमा देवी पत्नि राजू के द्वारा प्रसव की सूचना दी गई, सुचना प्राप्त होते ही मौके तुरंत एम्बुलेंस स्टॉफ पहुंचा। और इसके उपरांत प्रसव पीड़ित महिला को लेकर एम्बुलेंस अस्पताल आ रही थी, कि कुछ दूर निकलने पर प्रसुता की हालत बिगड़ने लगी और प्रसव पीड़ा अत्यादिक होने लगी एम्बुलेंस में कार्यरत कर्मचारी पवन और शोभित ने प्रसूता की बिगड़ती हालत को देखते हुए इसकी जानकारी लखनऊ ऑफिस के डॉक्टर को दी, जहां पर डॉ. प्रकाश के मार्गदर्शन और आशा की मदत से एम्बुलेंस कर्मचारियों ने प्रसुता सीमा देवी ने दो जुड़वा स्वास्थ्य बच्चों को जन्म दिया जिसके उपरांत जच्चा_बच्चा को अस्पताल में भर्ती कराया। तो वहीं सराय खालिद में कार्यरत 108 एम्बुलेंस में भी अशोथर गांव की प्रसव पीड़ित महिला कमलेश कुमारी पत्नी राजू ने प्रसव सूचना दी एम्बुलेंस प्रसुता को लेकर अस्पताल आ रही थी। तभी प्रसव पीड़ा अत्यादिक होने कारण प्रसुता का प्रसव एम्बुलेंस में करना पड़ा। एम्बुलेंस  कर्मचारी आकाश पाल और आफताब ने बड़ी समझदारी के साथ डॉ. सिंह के मार्गदर्शन से सुरक्षित प्रसव कराया और जच्चा_बच्चा दोनो को सुरक्षित अस्पताल में भर्ती कराया। तो वही हसवा 108 में कार्यरत शुभम और मदन ने भी प्रसुता सोनम देवी का सुरक्षित प्रसव कराया।।

तो वही जिले के प्रोग्राम मैनेजर से एम्बुलेंस में प्रसव के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि एम्बुलेंस सेवा के लिए कोई भी मरीज कभी भी काल कर सकता अगर मरीज समय रहते एम्बुलेंस को कॉल करे तो प्रसूताओं को समय से अस्पताल पहुचाया जा सके लेकिन  प्रसव का समय निकट आने पर काल किये जाने पर प्रसव एम्बुलेंस में ही हो जाते है। लेकिन एम्बुलेंस में कार्यरत कर्मचारी प्रशिक्षित होते। सेवा प्रदाता कंपनी GVK EMRI  के द्वारा डॉ की सुझाव सुविधा 24 घण्टे उपलब्ध रहती। जिनके मार्गदर्शन से कर्मचारी कार्य करते है। पिछले महीने में कर्मचारियों के द्वारा लगभग 15 से 20 सुरक्षित प्रसव कराये गए।। एम्बुलेंस में कार्यरत कर्मचारियों का समय समय मे प्रशिक्षण कराया जाता है। जिसे सभी कर्मचारिय अपने कार्य को सही से करते रहे। प्रोग्राम मैनेजर और अन्य सभी सीनियर्स ने कर्मचारियों के कार्य की प्रसंसा की। और सभी कर्मचारी से अपने कार्य को पूरी जिम्मेदारी से करते रहने का आग्रह किया है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
ओम घाट में डूबती महिला को पीएसी जवान ने बचाया
चित्र
मदरसा संचालक ने पुलिस अधीक्षक को सौंपा अवैध कब्जा रोकने का शिकायती पत्र
चित्र
गड्ढे के अंदर संचालित हो रही असलहा फैक्ट्री का पुलिस ने किया भंडाफोड़
चित्र
सेलावन गांव में चार नवनिर्मित शौचालयों का किया गया शुभारंभ
चित्र
नगरी निकाय सामान्य निर्वाचन 2022 सहित तैयार कर आने जाने वाली मतदाता सूची के संबंध में जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में बैठक संपन्न
चित्र