विश्व खाद्य दिवस पर ज्योति बाबा की भूख से जंग की अपील

 विश्व खाद्य दिवस पर ज्योति बाबा की भूख से जंग की अपील


बने खाद्य नायक ! किसी को पीछे ना छोड़े...ज्योति बाबा


किशोरों में बढ़ती नशे की प्रवृत्ति में बड़ा रोल निभा रहा कुपोषण...ज्योति बाबा 


विश्व खाद्य दिवस पर भूख को हराने का लें संकल्प...ज्योति बाबा 


पौष्टिक भोजन एक बुनियादी जरूरत और मौलिक मानव अधिकार है...ज्योति बाबा 


हर व्यक्ति तक सुरक्षित और पौष्टिक भोजन की पहुंच मौलिक मानव अधिकार है...ज्योति बाबा


कानपुर । विश्व खाद्य दिवस का उद्देश्य हर व्यक्ति तक सुरक्षित और पौष्टिक भोजन की पहुंच को सुनिश्चित करना है साथ ही कुपोषण और भुखमरी के लिए जागरूकता फैलाना है इसका उद्देश्य लोगों को यह भी समझाना है कि भोजन एक बुनियादी जरूरत और मौलिक मानव अधिकार है उपरोक्त बात नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल के तहत सोसायटी योग ज्योति इंडिया व सोशल ऑडिट उत्तर प्रदेश के संयुक्त तत्वाधान में विश्व खाद्य दिवस के अवसर पर आयोजित ई-संगोष्ठी शीर्षक "बेहतर उत्पादन,बेहतर पोषण,बेहतर वातावरण और बेहतर जीवन सभी का मौलिक मानव अधिकार" पर अंतरराष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख व नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल के नेशनल ब्रांड एंबेसडर योग गुरु ज्योति बाबा ने कही,ज्योति बाबा ने आगे कहा कि यूएन वर्ल्ड फूड प्रोग्राम की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर में एक ही 82.8 करोड़ लोग ऐसे हैं जो हर रात भूखे पेट सो जाते हैं यह आंकड़ा भयावह है ऐसी स्थित से पार पाया जाए,ताकि किसी को भूखा ना सोना पड़े,इसीलिए विश्व खाद दिवस की इस बार की थीम है कि सुरक्षित और पौष्टिक भोजन सभी को मिले यानी किसी को पीछे ना छोड़े। ज्योति बाबा ने बताया कि कुपोषण जितना बढ़ता जाएगा नशा उतना ही ज्यादा लोगों को अपने शिकंजे में लेता जाएगा क्योंकि कुपोषण के कारण उत्पन्न तनाव,कुंठा और अवसाद का हल किशोर नशे में खोजेगा इसीलिए बच्चों को जंक फूड से हो रहे कुपोषण से बचाकर ही हम स्वस्थ एवं बेहतर लाइफस्टाइल दे सकते हैं। रेलवे सलाहकार बोर्ड के सदस्य कमरुद्दीन उर्फ जुगनू ने कहा कि विश्व खाद्य दिवस के माध्यम से आइए हम सब मिलकर भूख मिटाने की समस्या का समाधान करें। प्रख्यात शिक्षाविद मनोज के गुप्ता ने कहा कि विश्व खाद्य दिवस गरीबी,कुपोषण और भूख को समाप्त करने की लड़ाई में अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय एकता को मजबूत करने के लिए एक वैश्विक कार्यवाही है। प्रदेश उपाध्यक्ष अंजू सिंह व मानवाधिकार वादी गीता पाल ने कहा कि भारत में पांच वर्ष से नीचे के बच्चों में कुपोषण का स्तर खतरनाक स्तर तक बढ़ चुका है इसीलिए विश्व खाद दिवस पर सभी को सुरक्षित एवं सेहतमंद भोजन मिले इसके लिए सामूहिक प्रयास करना होगा। ई-संगोष्ठी का संचालन जिला प्रभारी बाराबंकी सुमित राज एवं धन्यवाद सोशल ऑडिट के कुंदन सैनी ने दिया। अंत में सभी को स्वस्थ एवं सेहतमंद भोजन दिलाने हेतु सम्मिलित प्रयास करने का संकल्प योग गुरु ज्योति बाबा ने कराया। अन्य आगरा से भोला जैन,झांसी से इंजीनियर विनोद कुमार वर्मा,चंद्र पेंटर,जिला प्रभारी लखनऊ,अनिल अग्रवाल इत्यादि प्रमुख थे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
तेज रफ्तार रोडवेज बस अनियंत्रित होकर खाई मे जा पलटी
चित्र
हुसैनगंज थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच टीम ने मिलकर चोरी की 10 मोटरसाइकिल के साथ दो लोगों को किया गिरफ्तार
चित्र
मानसिक विक्षिप्त लड़की के साथ अस्पताल के कर्मचारी ने किया दुष्कर्म का प्रयास
चित्र
जिलाधिकारी ने 20 से 25 फीसदी से कम दर पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने के लिए निर्देश
चित्र
प्रदेश कमाने गए पति की गैरमौजूदगी में महिला के साथ पड़ोसियों ने किया बदसलूकी
चित्र