फातिया शेख की धूम धाम से मनाई गई 192 वीं जयंती

 फातिया शेख की धूम धाम से मनाई गई 192 वीं जयंती



फतेहपुर।खागा तहसील क्षेत्र के ग्राम सभा दयालपुर में भीम आर्मी से मीडिया प्रभारी संजय रावण के अध्याक्षता मे फातिमा शेख की 192 वीं जन्मोत्सव बल को बडे धूम धाम से मनाया गई और उनके जीवन परिचय में प्रकाश डाला गया।

 खागा तहसील क्षेत्र के विकास खण्ड ऐरायां की ग्राम सभा दयालपुर में फ़ातिमा शेख़ व सावित्रीबाई फुले की 192 वीं जयंती को मनाते हुए भीम आर्मी मीडिया प्रभारी संजय रावण ने बताया कि फातिमा शेख भारत की पहली मुस्लिम शिक्षिका थी जो फातिया शेख सावित्रीबाई फुले की सहयोगी थी। जब ज्योतिबा और सावित्री बाई फुले ने लड़कियों के लिए स्कूल खोलने का बीड़ा उठाया था। तब फ़ातिमा शेख़ ने भी इस मुहिम में उनका साथ दिया था। इन्होंने बताया कि उस ज़माने में अध्यापक मिलने मुश्किल थे। फ़ातिमा शेख़ ने सावित्रीबाई के स्कूल में पढ़ाने की ज़िम्मेदारी भी संभाली थी। इसके लिए उन्हें समाज के विरोध का भी सामना करना पड़ा था।तथा इन्होंने बताया कि फुले के पिता ने जब शुद्रो और महिलाओं के उत्थान के लिए किए जा रहे उनके कामों की वजह से उनके परिवार को घर से निकाल दिया था। तब फ़ातिमा शेख़ के बड़े भाई उस्मान शेख़ ने ही उन्हें अपने घर में जगह दी। फ़ातिमा शेख़ और उस्मान शेख़ ने ज्योतिबाई फुले और सावित्रीबाई को उस मुश्किल समय में बेहद अहम सहयोग दिया था। आधुनिक भारत की प्रथम मुस्लिम महिला शिक्षिका माता फातिमा शेख की जयंती पर में उन्हे शत् शत् नमन जिसमें डाक्टर संजय वर्मा राजकुमार खागा नगर अध्यक्ष अनिल गौतम आदि दर्जनो लोग मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ
Popular posts
विकास को 7 बार किस सांप ने काटा? सामने आई सच्चाई, अफसरों ने सुलझाई सच और झूठ की पहेली
चित्र
सर्प ने सात बार काटा सपने में सांप बोला नौंवी बार साथ ले जाएंगे कोई तंत्र मंत्र नही बचा पायेगा
चित्र
छात्र शौर्य द्विवेदी ने कबाड़ी से बनाई इलेक्ट्रिक बाइक
चित्र
विप्लवी ने असिस्टेंट कमिश्नर बन कर जनपद का नाम किया रोशन
चित्र
असोथर के 45 शिक्षकों ने संकुल पद से दिया इस्तीफा, धरना प्रदर्शन करके सरकार विरोधी लगाए नारे
चित्र