जनपद में महिला संरक्षण एवं सुरक्षा अंतर्गत महिला कल्याण विभाग द्वारा ग्राम पंचायत स्तर पर जन जागरूकता अभियान के माध्यम से महिलाओं को जागरूक करने का किए जा रहे प्रयास

 जनपद में महिला संरक्षण एवं सुरक्षा अंतर्गत महिला कल्याण विभाग द्वारा ग्राम पंचायत स्तर पर जन जागरूकता अभियान के माध्यम से महिलाओं को जागरूक करने का किए जा रहे प्रयास



 फतेहपुर।अंर्तराष्ट्रीय महिला दिवस के शुभ अवसर पर जिलाधिकारी  श्रीमती सी0 इंदुमती के कुशल मार्ग-दर्शन में निरन्तर महिलाओं की सुरक्षा एवं उत्थान हेतु प्रयास किये जा रहे हैं। महिला संरक्षण एवं सुरक्षा अन्तर्गत महिला कल्याण विभाग द्वारा ग्राम पंचायत स्तर/तहसील स्तरों में जन जागरूकता अभियान, कन्या जन्मोत्सव एवं स्वावलम्बन कैम्पों का आयोजन किया जा रहा है तथा मिशन शक्ति अभियान के अन्तर्गत महिलाओं को सशक्त, स्वावलम्बी एवं आत्मनिर्भर बनाये जाने हेतु आर्थिक एवं सामाजिक रूप से प्रोत्साहित किया जा रहा है। वन स्टाप सेन्टर योजनान्तर्गत 01 छत के नीचे किसी भी प्रकार की पीड़ित महिलाओं को 05 प्रकार की सुविधायें यथा अल्पावास, मेडिकल, काउन्सलिंग, पुलिस सहायता, विधिक सहायता आदि उपलब्ध करायी जाती हैं। विभाग द्वारा पति की मृत्युपरान्त निराश्रित महिला पेंशन योजना का भी संचालन किया जा रहा है जिसके अन्तर्गत वर्तमान में विभाग द्वारा 48,847 लाभार्थियों को रू0 1633.82 लाख की धनराशि सीधे लाभार्थियों के खातों में अन्तरित की जा चुकी है तथा मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजनान्तर्गत 38,297 लाभार्थियों को रू0 791.94 लाख की धनराशि सम्बन्धित लाभार्थियों के खातों में अन्तरित की जा चुकी है। उपरोक्त के अतिरिक्त महिला कल्याण विभाग में घरेलू हिंसा से महिला संरक्षण अधिनियम-2005 के अन्तर्गत वाद प्रस्तुत होते है जिनमें वादी प्रतिवादी के मध्य सुलह-समझौते का प्रयास किया जाता है।   

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा जनपद में 17,272 समूहो के माध्यम से 1,89,992 परिवारों को लाभान्वित किया जा रहा है, रिवाॅल्विंग फण्ड के माध्यम से 11,522 समूहों को आत्म निर्भर बनाये जाने हेतु प्रति समूह 15,000.00 रूपये की धनराशि उपलब्ध करायी जा रही है, संकूल स्तरीय फण्ड के माध्यम से 9,048 समूहों को 1,10,000.00 प्रति समूह को सहायता राशि उपलब्ध करायी जा रही है, जनपद में 06 पुष्टाहार निर्माण इकाईयाँ स्थापित हैं जिसके माध्यम से 120 परिवारों को आजीविका उपलब्ध करायी गयी है, जनपद में 22 आजीविका एक्सप्रेस, 24 प्रेरणा कैन्टीन, 672 बी0सी0 सखी, 388 विद्युत सखी एवं सार्वजनिक वितरण प्रणाली की 46 दुकानें महिला शक्तियों द्वारा संचालित की जा रही हैं। प्रत्येक विकास खण्ड स्तर में 01 महिला एफ0पी0ओ0 प्रदान किया जाना है जिसमें 01 विकास खण्ड स्तर में एफ0पी0ओ0 की स्थापना किये जाने की कार्यवाही पूर्ण कर ली गयी है। 

जनपद में महिलाओं द्वारा मुर्गी पालन, मिर्च खेती, प्रिपरमिन्ट खेती, रेशम उत्पादन, मिलेटर्स खेती इत्यादि योजनाओं द्वारा भी महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाये जाने का प्रयास किया जा रहा है। जनपद फतेहपुर में वर्तमान समय में 74,000 लखपति दीदियाँ है जिनमें से 274 लखपति दीदियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। 

बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा 46,000 लाभार्थियों को पुष्टाहार योजनान्तर्गत लाभान्वित किया जा रहा है जिससे महिलाओं के पोषण स्तर पर सुधार हो सके। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जननी सुरक्षा योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र में रू0 1400 प्रति लाभार्थी एवं शहरी क्षेत्र में रू0 1000 प्रति लाभार्थी कुल 31,121 लाभार्थियों को लाभान्वित किया जा चुका है। प्रधानमंत्री मातृत्व वन्दना योजनान्तर्गत महिला के प्रथम बच्चे के जन्म पर रू0-5000.00 तथा दूसरी बच्ची के जन्म पर रू0-6000.00 धनराशि की दर से कुल 56,332 लाभार्थियों को लाभान्वित किया जा चुका है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
कार ने हाइवे पार कर रही महिलाओं को कुचला, चार की मौत
चित्र
चुनाव ड्यूटी में आये हरदोई का रहने वाला होमगार्ड की बिगड़ी तबियत डॉक्टर ने किया मृत घोषित
चित्र
स्ट्रांग रूम में रखे ईवीएम मशीन के सुरक्षा व्यवस्था का एसपी ने लिया जायजा
चित्र
बडौरी टोल प्लाजा में अधिवक्ता के साथ हुई लूट के साथ गुंडई करते हुए जान से मारने की धमकी दी
चित्र
विश्वकर्मा समाज से सपा गठबंधन के पक्ष मांगे वोट-रामासरे विश्वकर्मा
चित्र