डिस्टनसिंग व नियमो के साथ मनाया गया इच्छा नवमी

 


सोशल डिस्टनसिंग व नियमो के साथ मनाया गया इच्छा नवमी


फतेहपुर ,कार्तिक शुक्ल पक्ष की नवमी अक्षय नवमी कहलाती है। यों सारे कार्तिक मास में स्नान का माहात्म्य है, परंतु नवमी को स्नान करने से अक्षय पुण्य होता है, ऐसा हिंदुओं का विश्वास है। इस दिन अनेक लोग व्रत भी करते हैं और कथा वार्ता में दिन बिताते हैं।
       आंवला वृक्ष का पूजन भक्ति भाव के साथ करना चाहिए। पुराणों कहा गया है कि जिस इच्छा के साथ पूजन किया जाता वह इच्छा पूर्ण होती है इसलिए इस नवमी को इच्छा नवमी भी कहते हैं।
      अक्षय नवमी के दिन आंवला वृक्ष के नीचे भोजन बनाकर खाने का विशेष महत्व है। यदि आंवला वृक्ष के नीचे भोजन बनाने में असुविधा हो तो घर में भोजन बनाकर आंवला के वृक्ष के नीचे जाकर पूजन करने के पश्चात् भोजन करना चाहिए। भोजन में सुविधानुसार खीर , पूड़ी या मिष्ठान्न हो सकता है।


Popular posts
यूपी पंचायत चुनाव में ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, बीडीसी औऱ जिला पंचायत सदस्य के पदों के लिए चिन्हों का चयन हो गया है
इमेज
जनपद के समस्त टोल प्लाजों में फतेहपुर जनपदवासियों को छूट एवं सविधाएँ को लेकर जिलाधिकारी को सौंपा गया ज्ञापन
इमेज
बकाया विद्युत बिल जमा ना होने पर काटे जाएंगे कनेक्शन--- एक्सईएन विद्युत विभाग
इमेज
जनपद के समस्त टोल प्लाजों में फतेहपुर जनपदवासियों को छूट एवं सविधाएँ को लेकर जिलाधिकारी को सौंपा गया ज्ञापन
इमेज
बकेवर सब्जी मंडी से सायकिल चोरी
इमेज