मायावती का बड़ा बयान, BJP-BSP के गठबंधन में भी मुस्लिमों को रखा साथ

मायावती का बड़ा बयान, BJP-BSP के गठबंधन में भी मुस्लिमों को रखा साथ


मायावती का सपा-कांग्रेस पर आरोप, BSP को बदनाम कर रहे


लखनऊ।बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने समाजवादी पार्टी और कांग्रेस पर निशाना साधा हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस-सपा के लोग मेरे बयान को गलत तरीके से प्रचारित कर रहे है. ताकि मुस्लिम समाज के लोग बीएसपी से अलग हो जाए. उनकी मंशा है कि प्रदेश में सात विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में बीएसपी को वोट ना करें, लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिलने वाली है. बीएपसी ने जब भी बीजेपी के सहयोग से सरकार बनाई है. हमाने हमेशा मुसलमानों को साथ रखा है,
मायावती ने कहा कि हमने दूसरे पार्टियों की तरह काम नहीं किया है. हमने संविधान के अनुसार सरकार चलाया है. जब भी बीएसपी ने बीजेपी के साथ सरकार चलाई है. बीजेपी उत्तर प्रदेश में कमजोर हुई है. सपा जब-जब सरकार में आई है बीजेपी मजबूत हुई है. उन्होंने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा के बाद बीजेपी ने सरकार बनाई है. बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बीएसपी के शासन में दंगा नहीं हुआ है. बीजेपी के साथ सरकार बनाने के बाद भी दंगा नहीं होने दिया है. रिकॉर्ड उठा कर देख सकते है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस-सपा शासन काल में देख ले हमेशा दंगा हुआ है. बीएसपी ने मुसलमानों का हमेशा साथ दिया है. हमाने प्रदेश के सात उपचुनावों में 2 टिकट मुसलमानों को दिए है. जब भी बीजेपी के साथ या अकेले सरकार बनाई है, तो हमने मुस्लिम समाज का भला किया है. उनको साथ रखा है. यहां तक की हमने अपनी सरकार भी गवाई है. 
मायावती ने साल कहा कि साल 1995 में मेरी पहली सरकार के दौरान जब मथुरा में बीजेपी आरएसएस मुसलमानों के ईदगाह पर धार्मिक ठेस पहुंचानी चाही, जो हमने नहीं होने दिया. जिसकी वजह से हमारी सरकार भी चली हई. वहीं,  साल 2003 में बीजेपी के साथ सरकार बनाया था, तो बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में साथ लड़ने का दवाब बनाया था, तभी हमने कहा कि बीएसपी की विचारधारा सबको साथ लेकर चलने का है. जो सर्वविदित है।