वाट्सएप ग्रुप के जरिये इस तरह बिछड़े लोगों को घर पहुंचा रहे मप्र पुलिस के तीन जवान

ग्वालियर। इंटरनेट मीडिया के कुछ स्याह पक्ष हैं तो कुछ उजले भी, निर्भर करता है कि समाज कौन से पक्ष को अपनाता है। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में पुलिस की साइबर सेल में पदस्थ आरक्षक पुष्पेंद्र यादव, राधा रमन त्रिपाठी और गिरीश शर्मा ने उजले पक्ष का इस्तेमाल करते हुए एक वाट्सएप ग्रुप बनाया और परिवार से बिछड़ जाने वाले लोगों को उनके स्वजन तक पहुंचाने का बीड़ा उठा लिया। इस ग्रुप को नाम दिया है- भटके हुए का सहारा। ग्रुप से देश के विभिन्न स्थानों के पुलिस अधिकारियों, जवानों के साथ सामाजिक संगठनों के लोगों को जोड़ा गया है।











ग्रुप को तैयार करने में तीनों जवानों को डेढ़ महीने का समय लगा। उनकी यह निजी पहल रंग भी लाई। कई लोगों को उनके स्वजन तक पहुंचाया गया है। इससे पहले पुष्पेंद्र और राधा रमन लोगों के खातों व ई-वॉलेट से ठगी रोकने के लिए वाट्सएप ग्रुप तैयार कर चुके हैं। ये आरक्षक अपने अन्य साथियों के साथ समाज सेवा के कार्य भी करते हैं। पुष्पेंद्र और रमन ने बताया कि वे गुढ़ा-गुढ़ी का नाका स्थित निराश्रित लोगों के आश्रम स्वर्ग सदन में मदद की मंशा से गए थे। यहां कई लोग मिले जो घर जाना जाते थे, लेकिन मानसिक रूप से कमजोर होने से पता नहीं बता पा रहे थे। इनकी मदद करने का विचार आया।ठगी के प्रकरणों की जांच व जानकारी के लिए देश भर के साइबर सेल के अधिकारियों- कर्मचारियों का ग्रुप और नेटवर्क पहले से तैयार था। उन्हीं अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ समाजसेवी संगठनों के लोगों को जोड़कर 'भटके हुए का सहारा' ग्रुप तैयार किया। इसमें निराश्रित मिले लोगों के फोटो व उनकी उपलब्ध जानकारियां शेयर की जाती हैं। ग्रुप के अन्य सदस्य अपने इलाके के पुलिस थानों या अन्य वाट्सएप ग्रुप से गुमशुदा लोगों की जानकारी से इसका मिलान करते हैं। फोटो अन्य ग्रुप में शेयर किए जाते हैं और कई लोगों के समन्वित प्रयासों से बिछड़े लोगों के स्वजन का पता चल जाता है।


Popular posts
जिला मुख्यालय पर कल जारी होगी पंचायत चुनावों के आरक्षित/अनारक्षित सीटों की सूची
इमेज
उत्तर प्रदेश में होने जा रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के आरक्षण सूची जारी की जा रही है फाइनल सूची 15 मार्च को
इमेज
एसडीओ बिंदकी ने कहा कि समय से बिल जमा करें योजना का लाभ उठाएं
इमेज
क्षेत्रीय भाजपा विधायक करन सिंह पटेल का प्रतिनिधि विपिन पटेल भाजपा की छवि कर रहा है धूमिल।
इमेज
तिन्दवारा गांव में बहू व ससुर ने लगाई फांसी बहू की मौत ससुर जिला अस्पताल में भर्ती जहां जिंदगी और मौत से लड़ रहा है
इमेज