कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसानों के अंदोलन के बीच केंद्र सरकार ने लिया एक बड़ा फैसला

 कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसानों के अंदोलन के बीच केंद्र सरकार ने लिया एक बड़ा फैसला



(न्यूज़)।कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसानों के अंदोलन के बीच केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है।सरकार ने पूर्वोत्तर में बिजली व्यवस्था को सुधारने के लिए नए बजट को मंजूरी दी है।इस पर 6700 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को हुई कैबिनेट कमेटी के फैसलों की जानकारी देते हुए कहा कि पूर्वोत्‍तर में ट्रांसमिशन लाइन को बढ़ाया जाएगा और 24 घंटे बिजली के लक्ष्य को पूरा किया जाएगा।जावड़ेकर ने बताया कि कि इस साल शक्कर का उत्पादन 310 लाख टन होने का अनुमान है।देश की खपत 260 लाख टन है।शक्कर का दाम कम होने की वजह से उद्योग संकट में है जिसे निकालने के लिए एक बड़ा फैसला लिया गया है।शक्‍कर इंडस्‍ट्री की मुश्‍क‍िलें कम करने के लिए 60 लाख टन चीनी निर्यात करने और निर्यात को सब्सिडी देने का फैसला किया गया है। 3500 करोड़ रुपए की सब्सिडी, प्रत्यक्ष निर्यात का मूल्य 18000 करोड़ रुपए किसानों के खाते में जाएगा।इसके अलावा घोषित सब्सिडी का 5361 करोड़ रुपया एक हफ्ते में किसानों के खाते में जमा कर दिया जाएगा।

Popular posts
उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल के युवा अध्यक्ष मनोनीत हुए विक्रम सिंह चंदेल
इमेज
विश्व का पहला देश इटली ने कोविड-19 से मृत शरीर का पोस्टमार्टम कराकर पता किया कि शरीर में कोरोना वायरस नहीं है
एसडीएम ने पकड़े 21 ओवरलोड मोरम भरे ट्रक
इमेज
हृदय गति रुक जाने के कारण वृद्ध की मौत
इमेज
डॉक्टर सत्यनारायण भारती विद्यालय हायर सेकेंडरी स्कूल में मेधावी छात्र छात्रा व शिक्षक अलंकरण समारोह आयोजित
इमेज