कोविड टीकाकरण आज, समय से पहुंचे- सीएमओ

कोविड टीकाकरण आज, समय से पहुंचे- सीएमओ


फतेहपुर। जिले में आज कोविड -19 टीकाकरण हो रहा है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ गोपाल कुमार माहेश्वरी ने पंजीकृत समस्त स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मचारियों से अपील की है कि वह टीकाकरण केंद्र पर समय से पहुंचें और जिले में टीकाकरण अभियान को शत प्रतिशत सफल बनाएँ।

सीएमओ डॉ डॉ गोपाल कुमार माहेश्वरी ने बताया कि कोविड -19 टीकाकरण शुक्रवार को सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक किया जा रहा है। इसमें स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मचारियों को कोविड -19 टीका से प्रतिरक्षित किया जाएगा। उन्होने कहा कि कोविन पोर्टल पर पंजीकृत सभी लोग आज टीकाकरण केंद्र पर समय से पहुंचे। क्योंकि टीका की एक शीशी से 10 लोगों को डोज होते है। शीशी खुलने के बाद एक नियत समय तक ही उसको उपयोग में ला सकते हैं। उन्होने स्पष्ट किया कि कोविड दृ 19 का यह टीका सबसे सुरक्षित टीका है। यह शरीर पर किसी तरह का प्रतिकूल प्रभाव नहीं छोड़ता है। उन्होने बताया कि शुक्रवार को जिले में 7 केन्द्रों पर टीकाकरण  किया जायेगा। इस दौरान जनपद के 700 लोग  प्रतिरक्षित किया जाएगा। 16 जनवरी को जिन लोगों को प्रतिरक्षित किया गया है। उनका अगला डोज 15 फरवरी निर्धारित है। कोरोना का टीका लगने के बाद यदि तबीयत न लगना, थकान महसूस होना, कंपकंपी या बुखार सा महसूस होना, सिर दर्द, मतली, जोड़ो या मांसपेशियों में दर्द की समस्या आ रही है तो इसका मतलब यह टीका शरीर पर असर कर रहा है।

बयान --- 

1- जिला महिला चिकित्सालय की महिला सीएमएस डा0 रेखारानी ने बताया कि कोरोना टीका लगवाने के बाद किसी तरह की परेशानी नहीं हुई है। यह पूरी तरह सुरक्षित है। इसलिये समाज के एक जिम्मेदार नागरिक की तरह आगे आकर इस मुहिम का भागीदार बनना चाहियें। 

2- जिला चिकित्सालय के फिजीशियन डा0 आरएन गुप्ता कहते हैं कि कोरोना वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है। वैक्सीन को लेकर मन में किसी तरह का संदेह न रखें। इसके लगने के बाद किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं हुई और प्रतिदिन डयूटी कर रहा हूं। 

3- कोल्ड चैन हैंडलर केशवती ने कहा कि कोरोना टीका लगने के बाद आज तक कोई दिक्कत नहीं हुई। किसी भी तरह की अपफवाह में न आयें। यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है। टीका लगवाने के बाद कोई परेशानी नहीं हुई है। 



टीका लगवाने से पहले दें पूरी जानकारी

टीका लगवाने से पूर्व यदि एलर्जी, बुखार, रक्त बहने या रक्त पतला करने की कोई दवा ले रहे हैं, या प्रतिरक्षा क्षमता कम है तो संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी को जानकारी दें। गर्भवती या स्तनपान करा रही महिलाओं को भी टीका लेने से पहले स्वास्थ्य अधिकारी पूरी जानकार देनी चाहिए। सीरम इंस्टीट्यूट की फैक्टशीट के अनुसार कोविशील्ड टीका 18 वर्ष और उससे अधिक  उम्र के लोगों के लिए है। यह टीका उन लोगों को नहीं लगना है जिन्हें पहली खुराक के बाद गंभीर रूप से एलर्जी हुई हो। इसके लिए चिकित्सक से परामर्श लें। कोविशील्ड से जुड़े प्रतिकूल प्रभाओं को लेकर सामान्य तौर पर तबीयत न लगना, थकान महसूस होना, कंपकंपी या बुखार सा महसूस होना, सिर दर्द, मतली, जोड़ो या मांसपेशियों में दर्द की शिकायत आम हो सकती है। वैक्सीन लगने के बाद कुछ घंटों में यदि कोई साइड इफेक्ट दिखता है तो इस बारे में वैक्सीन लगाने वाले को तत्काल जानकारी दें।