यूपी पंचायत चुनाव में ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, बीडीसी औऱ जिला पंचायत सदस्य के पदों के लिए चिन्हों का चयन हो गया है

 यूपी पंचायत चुनाव में ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, बीडीसी औऱ जिला पंचायत सदस्य के पदों के लिए चिन्हों का चयन हो गया है



ग्राम प्रधानों की किस्मत लिखेंगे तांगा,तोप से लेकर कोट,खड़ाऊ औऱ खम्भा देखें पूरी लिस्ट


लखनऊ:पंचायत चुनाव की तैयारियां लभगभ पूरी हो चुकीं हैं।सभी को सीटों के आरक्षण का इंतजार है।आरक्षण की प्रक्रिया पूरी होने के साथ ही चुनाव को लेकर अधिसूचना जारी हो जाएगी।

इसके पहले पंचायत चुनाव के चारों पदों के लिए चिन्हों का चयन हो गया है।ग्राम प्रधान के लिए 57 चुनाव चिन्ह, ग्राम पंचायत सदस्य के लिए 18, क्षेत्र पंचायत सदस्य (बीडीसी) के लिए 36 औऱ जिला पंचायत सदस्य के लिए 53 चुनाव चिन्ह इस तरह से कुल 164 चुनाव निशान तय किए गए हैं। 

ग्राम प्रधान के लिए तय हुए चुनाव चिन्हों में पिछले चुनाव की तरह ही तोप, गले का हार,कोट,खड़ाऊ आदि चुनाव निशान तय हुए हैं। 

ग्राम प्रधान पद के लिए अनाज ओसाता हुआ किसान, गले का हार, इमली, घंटी, कन्नी, चारपाई, कार, चूड़ियां, किताब, छत का पंखा, कैमरा, टेबिल लैंप, कैरम बोर्ड, टोकरी, कोट, डेस्क, खड़ाऊं, ड्रम, गदा, तांगा, तोप, फूल और घास, त्रिशूल, बल्लेबाज, दरवाजा, बस, धनुष, बांसुरी, धन का पेड़, बाल्टी, पत्तियां, बिजली का खंभा, पहिया, बिजली का बल्ब, पालकी, बेंच, पुल, बैलगाड़ी, फावड़ा, भवन, फुटबाल, भुट्टा, मोटर साइकिल, ऊन का गोला, मोमबत्ती, कंघा, रिंच, गुब्बारा, लिफाफा, गैस सिलेंडर, वायबुयान, टमाटर, हथौड़ा, दीवार घड़ी, आइस क्रीम, प्रेशर कुकर और अलमारी चिह्न तय हैं।

इसी तरह क्षेत्र पंचायत सदस्य(बीडीसी)पद के लिए 36 प्रतीक चिह्न आवंटित किए गए हैं। इनमें अनार, गेंद और हाकी, अलाव और आदमी, चकला बेलन, अंगूठी, चिड़िया का घोसला, आटा चक्की, जीप, ईंट, टार्च, कढ़ाही, टेबिल फैन, कांच का गिलास, टैंक, कुंआ, टोपी, केला का पेड़, तलवार, गुल्ली डंडा, दमकल, नारियल, लेटर बाक्स, पतंग, शहनाई, पानी का जहाज, सरौता, प्रेस, सिलाई मशीन, फ्राक, स्टूल, भगौना, स्लेट, रेल का इंजन, हंसिया, लड़का लड़की और हारमोनियम शामिल हैं। 

मतदाता इन्ही चुनाव निशानों पर मोहर लगाकर दावेदारों की किस्मत लिखेगा।पंचायत चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।प्रत्येक जिले के पुलिस कप्तान लगातार क़ानून व्यवस्था की मॉनिटरिंग कर रहें हैं।

Popular posts
चार माह बीतने के बाद भी दलित महिला प्रधान को नहीं मिला चार्ज
चित्र
योगी सरकार ने छात्रवृत्ति का बदला नियम, जानिए पैसे लेने के लिए करना होगा क्या नया काम
चित्र
प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल हुए एक दूजे के
चित्र
दिल्ली के निर्भया कांड में आरोपियों को फांसी की सजा दिलाने वाली देश की चर्चित अधिवक्ता सीमा समृद्धि लड़े गीं कानपुर की निर्भया का केस
चित्र
प्यार दे कर जो हमें विदा हुए संसार से,
चित्र